img

350 करोड़ रुपए की लागत से बीजेपी का नया मुख्यालय तैयार, प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन


आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर बने नए पार्टी मुख्‍यालय का उद्घाटन किया। इस मौके पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, सुषमा स्‍वराज, पीयूष गोयल, लालकृष्‍ण आडवाणी समेत शीर्ष पार्टी नेता मौजूद थे। बीजेपी का ये ऑफिस करीब 350 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार हुआ है। 

इस अत्याधुनिक ऑफिस में 70 कमरे और 400 गाड़ियों के खड़े होने की जगह है। भवन हाईटेक सुविधाओं से सुसज्जित भी है जो अत्याधुनिक वास्तुकला का एक बेजोड़ नमूना है। पार्टी अध्यक्ष के बैठने का कमरा टॉप फ्लोर पर है। भवन गर्मियों में ठंडा और जाड़े में गर्म रहे इसलिए इसके निर्माण में हॉलो ब्रिक्स का इस्तेमाल किया गया है। भवन में रोशनी के लिए छत पर सोलर प्लांट लगाए गए हैं। भवन वाटर हारवेस्टिंग और बॉयो टॉयलेट की सुविधा से युक्त है। भवन में दो कॉन्फेंस रूम है जिसमें एक साथ 600 लोगों के बैठने की सुविधा है। भवन में ऊपर आने- जाने के लिए लिफ्ट और एलिवेटर की सुविधा है। पूरा भवन वाई फाई एक्टिवेटेड है। इलेक्ट्रानिक मीडिया से बातचीत करने के लिए टेलीविजन स्टूडियो भी है जिसमें डिवेट, इंटरव्यू आदि किए जाने की व्यवस्था है। भवन में डिजिटल लाइब्रेरी और रीडिंग रुम भी है। इसके अलावा सोशल मीडिया, आईटी, डिजास्टर मैनेजमेंट, इलेक्शन मैनेजमेंट विंग अलग से है।

बता दें कि रविवार को पीएम ने बीजेपी नेताओं को संबोधित करते हुए अमित शाह और उनकी टीम को बधाई दी। पीएम ने कहा कि मैं अमित भाई और उनकी पूरी टीम को बधाई देता हूं कि समय सीमा में कार्यालय का निर्माण हुआ। पीएम मोदी ने तो समय पर काम पूरा करने के लिए अमित शाह को बधाई दे दी। काश पीएम मोदी भी अपने वादे को समय पर पूरा कर देते तो जनता उन्हें भी बधाई देती। पीएम ने वादा किया था कि वो 100 स्मार्ट सिटी बनाएंगे, भारत को स्वच्छ करेंगे, हर साल दो करोड़ रोजागर देंगे, महिलाओं को सुरक्षा देंगे, किसानों को न्युनतम समर्थन मुल्य देंगे। लेकिन आज तक एक भी वादा पूरा नहीं हुआ।

सरकार बनने के तीन साल के भीतर बीजेपी की सम्पत्ति 900 करोड रुपए हो गई और आज देश की सबसे अमीर राजनैतिक पार्टी है और अब चौथे साल में बीजेपी ने 350 करोड की लागत से नया ऑफिस भी बनवाया है। इस भव्यता और अमीरी से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि सबसे ईमानदार और लोकतांत्रिक होने का दावा करने वाली बीजेपी में किन शर्तों पर या समझोतों पर पार्टी फंड के लिए पैसा आ रहा होगा। सबका विकास हो या ना हो अपना विकास होता जरूर दिख रहा है। 

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े