img

यूपी- अमरोहा में मोहल्ले का नाम गौतम नगर से इस्लाम नगर करने को लेकर तनाव

उत्तर प्रदेश- अमरोहा में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा एक मोहल्ले का नाम बदलने का मुद्दा उठाकर अशांति फैलाने की कोशिश की जा रही है। अमरोहा के कस्बा नोगावा सादात में मोहल्ले का नाम बदलने को लेकर तनाव फ़ैल गया है। दरअसल दुकानदारों द्वारा अपनी दुकानों के होर्डिंग्स पर इस्लाम नगर लिखने के बाद से ये तनाव फैला है।

दरअसल ये मोहल्ला दलितों और मुस्लिमों की मिलीजुली आबादी वाला मोहल्ला है। दलित इस मोहल्ले को गौतम नगर कहते है तो वहीँ मुस्लिम समुदाय के लोग इस्लाम नगर बताते है। हाल ही में मुस्लिम दुकानदारों ने अपने होर्डिंग्स पर इस्लाम नगर लिखवाया, जिसका विरोध किया गया।

गौतम नगर मोहल्ले के मौजूदा वार्ड सभासद रईस अहमद ने जानकारी दी कि बहुत पहले से यहां के हिन्दू और मुस्लिम मोहल्ले का अलग-अलग नाम इस्तेमाल करते आ रहे हैं, कुछ समय पहले कुछ लोगों ने अपनी दुकानों के बोर्ड पर इस्लाम नगर लिख लिया था, जिसका विरोध दलितों ने किया था, लेकिन फिर ये तय हुआ कि झगड़ा बढ़ाने की बजाय जो लिखा है उसे ऐसा ही रहने दिया जाए। लेकिन कुछ शरारती तत्वों ने बात बढ़ाने की कोशिश की। इसके बाद थाना अध्यक्ष महोदय और दोनों पक्षों के लोगो को बिठाकर मामला निपटाने की कोशिश की गई।

वहीं मामले में सियासत भी तेज होती जा रही है, कस्बे के बीजेपी नेता आफताब आडवाणी ने बयान दिया कि कुछ पाकिस्तान प्रेमी लोगों ने सपा सरकार के दौरान गौतम नगर का नाम बदलने की कोशिश की थी, जिसका हमने उस समय भी विरोध किया था, हम नाम बिलकुल नहीं बदलने देंगे, अब फिर कुछ लोग ऐसा करना चाहते हैं, इसके लिए वह खुद मोके पर गए थे और लोगों से बात की है, अगर कोई ऐसा करेगा तो उसे खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

वहीँ इस मामले में उपजिलाधिकारी संजय सिंह का कहना है कि हमने अभिलेखों में इसकी जांच की जिसमे पता लगा कि यहां का असली नाम बुध बाजार है। इसमें रहने वाले दलित और मुस्लिम इसे अपने तरीके से अपनी-अपनी गलियों का नाम गौतम नगर और इस्लाम नगर रखते हैं। किसी प्रकार का कोई विवाद नहीं है। कुछ असमाजिक तत्वों ने इस मामले को उछाला है। हमने दो दिन पहले इन लोगों का सभासद की मौजूदगी में समझौता भी कराया था। उनका कहना है कि जहां तक आधार कार्ड की बात है तो उस पर व्यक्ति द्वारा बताया गया कि पता लिखा जाता है। लेकिन वोटर आईडी में इस मोहल्ले का नाम बुध बाजार ही लिखा हुआ है।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े