img

मुंबई- एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन के फुटओवर ब्रिज पर भगदड़, 22 की मौत, 39 घायल

मुंबई के एलफिन्सटन रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार की सुबह बड़ा हादसा हो गया। रेलवे स्टेशन के फुट ओवर ब्रिज पर भगदड़ मचने से 22 लोगों की मौत हो गई, जबकि 39 से अधिक लोगों के घायल घायल हो गए। हादसा सुबह करीब 10.15 मिनट पर हुआ। बताया जा रहा है कि तेज बारिश के चलते ब्रिज पर भारी भीड़ जमा हो गई थी। इसी दौरान अफवाह फैल गई कि ब्रिज टूट गया है और भगदड़ मच गई। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।



पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार सुबह से ही बारिश हो रही थी लेकिन घटना के समय बारिश तेज हो गई थी। इसलिए सभी यात्री ब्रिज पर ही रुक गए। ब्रिज पर भीड़ बढ़ने लगी। इसी दौरान अफवाह के चलते भगदड़ मचने के कारण यह हादसा हुआ। उन्होंने कहा कि जांच के बाद हादसे की वजह का पता चल सकेगा। उन्होंने बताया कि इस हादसे में 22 लोगों की मौत हो गई है जबकि 39 लोग घायल हैं। मृतकों में 14 पुरुष और 8 महिलाएं भी शामिल ,हैं जिसमें से 18 की पहचान की जा चुकी है।



प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि ब्रिज पर भारी भीड़ के बीच धक्का-मुक्की होने लगी। इसी दौरान ब्रिज में किसी ने शार्ट सर्किट तो किसी ने ब्रिज गिरने की अपवाह फैलाई और पुल पर फिसलन के कारण भीषण हादसा हो गया। भगदड़ मचने से कई औरतें बेहोश हो गई थीं। हादसे की सूचना मिलने के करीब आधे घंटे बाद आपदा प्रबंधन के साथ फायर ब्रिगेड की टीम के साथ राहत-बचाव के लिए पहुंची। स्टेशन पर मौजूद लोगों ने बचाव व राहत कार्य शुरू किया और लोगों को अस्पताल तक पहुंचाने में मदद की।
 
 इस भीषण हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रेलमंत्री पीयूष गोयल ने दु:ख जताया है। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि पश्चिमी रेलवे के चीफ सेफ्टी ऑफिसर इस हादसे की जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि आगे इस तरह की कोई घटना न हो, इसके लिए कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मृतकों के परिवार वालों को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसमें पांच लाख रेलवे और पांच लाख रुपये राज्य सरकार देगी। इसके अलावा गंभीर रूप से घायल लोगों को एक लाख तथा जिन्हें कम चोटें आई हैं उन्हें 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। रेलमंत्री ने हॉस्पिटल जाकर घायलों से मुलाकात की। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने बताया कि बारिश की वजह से भीड़ अधिक थी और अफवाह के चलते भगदड़ मच गई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी कहा है कि राज्य सरकार और रेल मंत्रालय की ओर से इस हादसे की जांच कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। 

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

  • काश, समय से पहले ना गए होते कांशीराम....

    कांशीराम जी की 11वीं पुण्यतिथि पर विशेष...ये कहने में शायद किसी को कोई ऐतराज नहीं होगा कि बाबा साहब के बाद कांशीराम जी बहुजनों के सबसे बड़े नेता थे। और उनकी असमायिक मौत से बहुजन समाज का जो नुकसान…

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े