img

खत्म होने वाले हैं बीजेपी के अच्छे दिन- मायावती

उत्तरप्रदेश- मंगलवार को आजमगढ़ के विशाल मैदान पर बसपा ने मंडलीय रैली की। जिसमें बसपा सुप्रीमो मायावती ने मोदी और योगी पर तीखे प्रहार किए। उन्होंने बीजेपी को जातिवादी बताते हुए कहा कि कि केन्द्र सरकार अभी तक अपने चुनावी वायदों को पूरा नहीं कर सकी है। लोगों का भटकाने के लिए सरकार लोकसभा चुनावों से पहले अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करवा सकती है। विधानसभा चुनावों में हार के बाद मायावती की उत्तर प्रदेश में यह दूसरी मंडलीय रैली है। मायावती की इस रैली में 11 जिले के कार्यकर्ता शामिल हुए।

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी को जिस गलत तरीके से लागू किया गया है उससे देश की आर्थिक स्थिति कमजोर हो गई है। मोदी विदेशों में अपनी छोटी-छोटी उपलब्धि बता रहे हैं। लेकिन ज़मीनी हकीकत ये है कि अभी तक उन्होंने अपना कोई वादा पूरा नहीं किया है। मोदी सरकार केवल लोगों को झुठे सपने दिखाकर उन्हें लुभाने के लिए योजनाएं बनाती है, लेकिन उन्हें पूरा करने के लिए कोई काम नहीं करती है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी सिर्फ आरएसएस का एजेंडा लागू करना चाहती है जो दलित और मुस्लिम विरोधी है। दलितों और मस्लिमों का सबसे ज्यादा उत्पीड़न बीजेपी के शासन काल में हो रहा है। उन्होंने कहा कि जब मैंने शब्बीर पुर में दलितों के साथ हुई हिंसा का मुद्दा राज्यसभा में उठाने की कोशिश की तो सरकार के मंत्री और सांसदों ने मुझे बोलने नहीं दिया। जिसके कारण मैंने दलितों के हित के लिए राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। मायावती ने बीजेपी पर अपनी हत्या कराने की साजिश का भी आरोप लगाया।

ईवीएम का ज़िक्र करना मायावती नहीं भूलीं, उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करके चुनाव  जीतने और विपक्षियों को कमजोर करने में लगी है। बीजेपी ने यूपी चुनाव ईवीएम में गड़बड़ी करके ही जीता है।   वहीं यूपी की योगी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि योगी पूर्वांचल का विकास तब करेंगे जब उन्हें मंदिरों से फुर्सत मिलेगी। अयोध्या में राम मंदिर बनने से किसी भी दलित का विकास नहीं होगा। दलितों के भगवान बाबा साहेब अंबेडकर ही हैं। मायावती ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बीजेपी के बहकावे में ना आएं और उसे वोट ना दें।

रैली में मौजूद लोगों का आभार प्रकट करते हुए उन्होंने अपील की कि आप लोगों के सहयोग से ही बसपा मजबूत हो सकती है और ये तभी होगा जब आप बीजेपी और एनडीए को कमजोर करेंगे, उन्हें वोट नहीं देंगे। अब बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने की जिम्मेदारी आम जनता की है। मायावती ने कहा कि अब जनता जाग गई है और आने वाले निकाय चुनाव में बसपा मजूबत होगी। लोग ये समझ चुके हैं कि बीजेपी के रहते नए भारत का निर्माण नहीं हो सकता।

मायावती ने कहा कि बीजेपी वाराणसी, अयोध्या, मथुरा और चित्रकुट में कितनी भी पूजा कर लें धर्म के सहारे भी जीत नहीं होगी। वर्तमान में चल रहे माहौल और दलित,पिछड़ों के उत्पीड़न पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि अगर देश में जातिवादी सोच नहीं बदली तो वह भी बाबा साहब अंबेडकर की तरह हिंदू धर्म छोड़ देंगीं और बौद्ध धर्म अपना लेंगी।  

मंडल कमीशन का ज़िक्र करते हुए उन्होंने पिछड़े समाज से कहा कि पिछड़ों की तो बीजेपी कट्टर विरोधी रही है, मंडल कमीशन लागू होने के बाद बीजेपी ने ही इसका सबसे ज्यादा विरोध किया था। और वी.पी.सिंह सरकार से समर्थन वापस लेकर उनकी सरकार गिरा दी थी। पिछड़े वर्ग को बीजेपी से सबसे ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है।  

ओम प्रकाश
ओम प्रकाश
ब्यूरो चीफ
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े