img

एकजुट होकर दिखानी होगी वोट की ताकत- प्रकाश अंबेडकर

सोमवार को दिल्ली के संसद मार्ग पर बाबा साहब अंबेडकर के पोते प्रकाश राव अंबेडकर के आह्वान पर विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया। प्रदर्शन में हजारों की संख्या में लोग जुटे। लोगों के अलावा बड़ी संख्या में अंबेडकरवादी संस्थाओं ने हिस्सा लिया। 

प्रकाश राव अंबेडकर ने कहा कि जो खतरा संविधान पर मंडरा रहा है वो आज का खतरा नहीं है बल्कि आजादी के बाद से ही संविधान पर खतरा मंडरा रहा है। संविधान बनने के तुरंत बाद ही हिंदुवादी संगठनों ने कहा था कि हम इस संविधान को नहीं मानते क्योंकि इसमें मनुस्मृति या हिंदू संस्कृति का कोई हिस्सा नहीं है। ये संविधान विदेशी तत्वों पर आधारित है। वो आरोप लगाते थे कि बाबा साहब विदेश से पढ़कर आए हैं इसीलिए संविधान पर विदेशी तत्व हावी है। उनकी नजर में भाईचारा, समानता, इंसानियत विदेशी तत्व का है। क्योंकि संविधान तो इन्हीं तत्वों पर आधारित है। 

उन्होंने कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार में हुए घोटालों के कारण बीजेपी को इस बार सत्ता में आऩे का मौका मिला। लेकिन इन्होंने घोटालों के विरूद्ध विकास के मुद्दे तो छोड़ दिए और संविधान बदलने के मुद्दे खड़े कर दिए। उन्होंने कहा कि 2014 में जब वो चुनाव लड़े तो क्या उन्होंने अपने ऐजेंडे में संविधान बदलने की बात कही थी अगर नहीं तो फिर फिर इसे अब क्यों हवा दी जा रही है।

आज मानवता को मानने वालों के सामने संविधान को बचाना एक बहुत बड़ी चुनौती है। और ये सभी समुदायों के लिए जरूरी है कि वे सामने आकर संविधान को बचाएं। क्योंकि संविधान के कारण ही हम सब सुरक्षित है। क्योंकि ये लोग शुरू से देश में मनुवादी व्यवस्था लागू कर देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कई राजनैतिक नेता मुझ से कहते हैं कि बचकर रहिए, तो मैं उनसे कहता हूं कि संविधान ने मुझे बचने का पूरा अधिकार दिया है। क्योंकि हमें संविधान ही बचा सकता है और कोई नहीं।

हम सबको ये अच्छे से समझ लेना चाहिए कि हम आजादी के साथ जो जिंदगी जी रहे हैं वो संविधान की बदौलत ही जी रहे हैं जिस दिन ये संविधान बदल गया तो हमारी जिंदगी पुरानी मुनवादी व्यवस्था की तरह बना दी जाएगी। जिस तरह से काम किया जा रहा है दलित समुदाय को पुरानी ढर्रे की तरफ धकेलने की कोशिश की जा रही है। 

उन्होंने कहा कि संघर्ष तो हम लोग कर रहे हैं लेकिन हमें एकजुट होकर सत्ता परिवर्तन करना होगा। हमें अपने वोट के अधिकार की ताकत दिखानी होगी। हमें जागरूक होना होगा और दूसरों को भी करना होगा और ये कुछ व्यक्तियों की नहीं हर किसी की जिम्मेदारी है।  
  
  


' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े