img

यूपी नगर निकाय चुनाव: मेरठ में वोटिंग के दौरान EVM में गड़बड़ी पर चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

यूपी नगर निकाय चुनाव में पहले चरण के लिए वोटिंग के दौरान मेरठ में एक बूथ पर ईवीएम में गड़बड़ी के मामले को मुख्य चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। चुनाव आयोग ने राज्य निर्वाचन आयोग को मामले की जांच कराने के निर्देश दिए हैं।    

संबंधित ख़बर से जुड़ा वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें :-
http://www.padtal.com/videos/view
मेरठ में नगर निकाय चुनाव के लिए 22 नवम्बर को हुई वोटिंग के दौरान वार्ड नंबर 89 में लिसाड़ी गेट क्षेत्र के रशीनदनगर में ढलाई वाली गली में बनाए गए पोलिंग सेंटर में बूथ संख्या 997 पर ईवीएम में गड़बड़ी होने को लेकर मतदाताओं ने कई बार हंगामा किया था। इसके साथ ही कई मतदाताओं ने ईवीएम के साथ अपनी वीडियो भी बनाई थी, उन्होंने आरोप लगाया था कि ईवीएम में बीएसपी के चुनाव चिन्ह हाथी के निशान पर बटन दबाने से बीजेपी के चुनाव चिन्ह कमल का फूल के निशान की लाइट जल रही है। ईवीएम में गड़बड़ी के ये वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गए थे।


संबंधित ख़बर से जुड़ा वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें :-
http://www.padtal.com/videos/view
ईवीएम में गड़बड़ी होने की शिकायत पर बीएसपी की मेयर पद की प्रत्याशी सुनीता वर्मा के पति योगेश वर्मा ने भी चुनाव अधिकारियों के सामने विरोध जताया था। जिसके बाद पीठासीन अधिकारी ने मतदान रोकर तुरंत दूसरी ईवीएम की व्यवस्था की थी। लेकिन मुख्य चुनाव आयोग के अंडर सेक्रेटरी मधुसूदन गुप्ता ने राज्य निर्वाचन आयोग को इस मामले में नोटिस जारी कर जांच रिपोर्ट तलब की है।


संबंधित ख़बर से जुड़ा वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें :-
http://www.padtal.com/videos/view
बताया जा रहा है कि यूपी नगर निकाय चुनाव में मतदान के लिए मेरठ में महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से मंगाई गई ईवीएम को लगाया गया था, ईवीएम के जानकारों को कहना है कि ये ईवीएम 2002 में बनी थी और ज़्यादा पुरानी होने की वजह से इनमें तकनीकी गड़बड़ी हुई है।


संबंधित ख़बर से जुड़ा वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें :-
http://www.padtal.com/videos/view
ईवीएम में गड़बड़ी के मामले को लेकर कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। कांग्रेस नेताओं ने चुनाव आयोग से सुप्रीम कोर्ट के सीटिंग या पूर्व जज से मामले की जांच कराने की मांग की है।  

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े