img

नसीमुद्दीन सिद्दीकी को विधान परिषद उत्तर प्रदेश की सदस्यता से अयोग्य घोषित किया जाए- बीएसपी

बीएसपी ने एक बार फिर नसीमुद्दीन सिद्दीकी को विधान परिषद की सदस्यता से अयोग्य घोषित करने  की मांग की है। बुधवार को लखनऊ में 12 माल ऐवेन्यू स्थित बीएसपी राज्य कार्यालय उत्तर प्रदेश की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने अपने बयान में कहा कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ सुनील चित्तौड़ नेता विधान परिषद बहुजन समाज पार्टी ने विधान परिषद उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष के समक्ष याचिका दायर करते हुए दल परिवर्तन के आधार कार्रवाई करते हुए नसीमुद्दीन सिद्दीकी की सदस्यता रद्द कर अयोग्य घोषित करने के साथ-साथ वेतन, भत्ता समेत किसी भी तरह की सुविधा देने पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है।


बीएसपी ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ खोला मोर्चा
  
बीएसपी की तरफ से जारी विज्ञप्ति में ये भी कहा गया है कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी बहुजन समाज पार्टी की ओर से 23 जनवरी 2015 को विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए थे। जो उनका मूल राजनीतिक दल था, लेकिन नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने 22 फरवरी 2018 को औपचारिक रूप से अपना मूल राजनीतिक दल बहुजन समाज पार्टी को त्याग कर दूसरे राजनीतिक दल इंडियन नेशनल  कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली है, जिसकी घोषणा उन्होंने दिल्ली में कांग्रेस नेताओं के साथ मिलकर मीडिया के सामने की थी।  

 
विधान परिषद में बीएसपी के नेता सुनील चित्तौड़ ने अपनी याचिका में विधान परिषद उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष से मांग की है कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी का उपरोक्त आचरण विधिक एवं संवैधानिक रूप से मूल राजनीतिक दल की सदस्यता छोड़ने की बात सिद्ध करता है और उनका यह कृत्य संविधान की दसवीं अनुसूची के विपरीत है। इसलिए 22 फरवरी 2018 से नसीमुद्दीन सिद्दीकी को विधान परिषद उत्तर प्रदेश की सदस्यता से अयोग्य माना जाए। इसके साथ ही उन्हें उक्त तारीख से ही विधान परिषद के सदस्य के रूप में कोई भी वेतन,भत्ता और अन्य सुविधा न दी जाए।

ओम प्रकाश
ओम प्रकाश
ब्यूरो चीफ
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े