img

प्रद्युम्न मर्डर केस: जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड का बड़ा फैसला, आरोपी को बालिग मानकर चलेगा मुकदमा



गुरूग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न मर्डर केस में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड का बड़ा फैसला आया है। कोर्ट ने कहा है कि 16 साल के आरोपी छात्र को बालिग मानकर मुकदमा चलेगा। वहीं बोर्ड ने ये भी साफ कर दिया है कि आरोपी को उम्र कैद जैसी सजा नहीं दी जाएगी।जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने मामले में 16 दिसंबर को सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था कि आरोपी छात्र को बालिग या नाबालिग मानकर केस चलाया जाएगा।

इससे पहले जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने आरोपी छात्र की एक याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें उसने कहा था कि सीबीआई के चार्जशीट दायर करने तक उसके खिलाफ नाबालिग की तरह ही केस चलाया जाए। 11वीं के आरोपी छात्र ने जेजे बोर्ड के सामने जमानत याचिका भी लगाई थी, जिस पर सीबीआई को नोटिस जारी किया गया था। जेजे बोर्ड ने CBI को आरोपी छात्र का फिंगर प्रिंट लेने की भी आज्ञा दे दी थी। फिंगर प्रिंट लेने के बाद सोमवार के दिन सीबीआई की टीम फरीदाबाद में बने बाल सुधार गृह में पहुंची। वहीं, अब प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में सुनवाई पुरी हो चुकी है। करीब ढाई घंटे तक चली बहस के बाद बोर्ड द्वारा आरोपी छात्र की जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया था। जिसके बाद बोर्ड ने फैसला सुनाते हुए आरोपी को बालिग मान लिया । और अब ये केस अब जिला एवं सत्र न्यायालय को सौंप दिया गया है। 

गुड़गांव जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड को प्रद्युम्न मर्डर केस में सौंपी गई रिपोर्ट में आरोपी की मानसिक प्रृवत्ति को लेकर साइकोलॉजिकल और सोशल इन्वेस्टिगेशन तथ्य सामने रखे गए। इसके साथ ही रिपोर्ट में कई चौंका देने वाली बातें भी सामने आई है। इस रिपोर्ट को दोनों पक्षों को स्टडी के लिए दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि रिपोर्ट में आरोपी को हाईपर अग्रेसिव बच्चा बताया गया है। रिपोर्ट में कई ऐसी बातों का भी खुलासा किया गया है जो कि उसके नाबालिग होने के कारण मीडिया के सामने नहीं लाई गई हैं।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े