img

वाघा बॉर्डर से भारत पहुँचे विंग कमांडर अभिनंदन, हुआ शानदार स्वागत

नई दिल्ली- पाकिस्तान ने शुक्रवार रात  9 बजकर 21 मिनट पर वाघा बॉर्डर पर विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को सौंप दिया। मातृभूमि लौटने की खुशी उनके चेहरे पर मुस्कान के रूप में सामने आयी। सीमा पर उनका शानदार स्वागत किया गया। करीब दस बजे अभिनंदन अमृतसर से दिल्‍ली के लिए रवाना हुए। उन्‍हें विशेष विमान से दिल्‍ली लाया गया। यहां उनका राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल में उनका मेडिकल होगा। 

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने अभी भी पाकिस्तान को लेकर नरमी का संकेत नहीं दिया है मगर अभिनंदन की रिहाई के मद्देनजर शुक्रवार को दोनों देशों की ओर से रणनीतिक संयम बरती गई। किसी भी तरफ से कोई तीखा बयान नहीं आया।

अभिनंदन की रिहाई पर तत्काल खुशी का इजहार करने के अलावा भारतीय वायुसेना ने कोई टिप्पणी नहीं कर साफ-साफ संकेत दे दिया कि पाकिस्तान से मसला जांबाज पायलट की रिहाई तक का नहीं बल्कि असल मुद्दा आतकंवाद ही रहेगा। वाघा बार्डर पर भारतीय वायुसेना को सौंपे गए अभिनंदन को सबसे पहले मेडिकल जांच के लिए ले जाया जाएगा और उन्हें दिल्ली लाया जा रहा है।

जांबाज पायलट की अगवानी करने खुद वाघा पहुंचे वायुसेना के एयर वाइस मार्शल रवि कपूर ने अभिनंदन की वापसी के बाद मीडिया से संक्षिप्त बयान में कहा कि चूंकि विमान क्रैश होने के बाद पेराशूट से कूदने के कारण उन्हें अंदर तक चोट लगी है। शरीर के अंदर दबाव होगा और इसीलिए सबसे पहले उनकी मेडिकल जांच होगी। उन्होंने पाकिस्तान के इस कदम पर सीधे कोई बात नहीं कही और केवल इतना कहा कि वायुसेना उनके लौटने से खुश है।

पाकिस्तान ने अभिनंदन को सौंपने में थोड़ी देरी की ताकि जनसमूह का सैलाब सीमा पर अभिनंदन का स्वागत करने को मौजूद न रहे। इस्लामाबाद से लाहौर लाने में पहले विलंब हुआ और फिर औपचारिक प्रक्रिया पूरी करने में भी समय लगा। लाहौर में प्रक्रिया के तहत मेडिकल जांच की गई और फिर पाक अधिकारियों ने इसलामाबाद स्थित भारत के डिफेंस अटैची के साथ अभिनंदन को भारतीय अधिकारियों को सौंपा।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े