img

राम मंदिर पर विनय कटियार का भड़काऊ बयान, कहा हिंदुओं को देना होगा एक और बलिदान

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर बीजेपी नेता और सांसद विनय कटियार का भड़काऊ बयान सामने आया है। कटियार ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए सभी हिंदुओं एक बार फिर बलिदान देने के लिए तैयार होना पड़ेगा।

 विनय कटियार अयोध्या के रामकोट में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे, इस दौरान उन्होंने कहा कि आज राम मंदिर निर्माण के लिए हिंदुयों के बलिदान की आवश्यकता है। कटियार ने कहा कि इसके लिए किस तरह के बलिदान की जरुरत होगी ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा। कटियार ने कहा कि अब केवल बलिदान ही एकमात्र रास्ता बचा है जिससे राम मंदिर बन सकता है।

कटियार ने कहा कि अयोध्या में मस्जिदो की कोई कमी नहीं है। यहां तक विवादित जगह के आस-पास भी काफी मस्जिद मौजूद है। बावजूद इसके हमारे मुस्लमान भाई विवादित स्थल पर मस्जिद के निर्माण की जिद्द पर अड़े हुए है।   

कटियार ने अयोध्या विवाद को कोर्ट के बाहर ही सुलझाने की श्री श्री रविशंकर की कोशिशो पर तंज कसा। कटियार ने कहा कि जिन लोगो का मंदिर मसले से कुछ भी लेना देना नहीं है वह भी समझौते के लिए नये-नये उपाय लेकर आ रहे है लेकिन उसमें सफल नहीं हो रहे है।

कटियार ने कहा कि 2019-20 तक अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर का काम शुरु हो जाएगा जिसे लेकर अभी से तैयारियां भी शुरु कर दी गई है। कटियार ने इस बात पर जोर देकर कहा कि अयोध्या में विवादित ढांचे पर आंदोलन के जरिए ही भव्य राम मंदिर निर्माण का काम हो पाएगा। 

कटियार ने इतिहास का बखान करते हुए कहा कि मुगलों ना केवल हिंदुओं के मंदिरो को तोड़ा बल्कि हिंदुओ को अपमानित भी किया। अब समय आ गया है कि सभी हिंदु एक साथ आए और शपथ लें कि जब तक अयोध्या में राम मंदिर नहीं बन जाता हम अपने इस वचन के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे ओर इसके लिए चाहे हमें कितनी ही बड़ी कीमत क्यों ना चुकानी पड़े।

कटियार ने अपने संबोधन में तत्कालीन मुलायम सिंह सरकार का हवाला देते हुए कहा कि उस समय भी हजारों लाखों कार सेवको ने अपना बलिदान दिया था तब जाकर के विवादित ढांचा गिराने में सफलता मिली थी। कटियार ने कहा कि भगवान श्रीराम अयोध्या में एक बार फिर बलिदान चाहते है जिसके लिए हिंदुओं को एक साथ आना होगा। 
 

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े