img

UDPATE- राज्यपाल राम नाइक ने कासगंज हिंसा को बताया कलंक, योगी सरकार पर बरसीं मायावती

गणतंत्र दिवस के मौके पर कासगंज में हुई हिंसा को राज्यपाल राम नाईक ने प्रदेश पर कलंक बताते हुए, प्रदेश सरकार को कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। सोमवार को मीडिया से बात करते हुए राज्यपाल ने कासगंज हिंसा को प्रदेश के लिए कलंक बताया। मायावती ने हिंसा के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। 

मीडिया से बात करते हुए राज्यपाल राम नाईक ने कहा, 'जो कासगंज में हुआ वह किसी को भी शोभा देने लायक नहीं है। वहां जो घटना हुई वह यूपी के लिए कलंक के रूप में हुई है। सरकार उसकी जांच कर रही है।' घटना को लेकर कड़ा रवैया अपनाने की बात कहते हुए वह बोले, 'सरकार ऐसे कदम उठाए कि फिर से ऐसा न हो।' 

घटना के तीन दिन बाद सोमवार को कासगंज में सुरक्षा बलों की मौजदूगी में जिंदगी सामान्य होती दिखी। हालांकि, सड़कों पर आम दिनों के मुकाबले कम ही लोग दिखे। वैसे तो रविवार दोपहर को ही यहां बाजार खुल गए थे और आम लोगों ने खरीदारी भी की। स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां धीरे-धीरे लोगों में विश्वास लौट रहा है, लेकिन प्रशासन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इस तरह का बवाल फिर से ना हो। 

दूसरी ओर बसपा अध्यक्ष मायावती ने योगी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि प्रदेश में जंगलराज चरम पर है। और कासगंज की घटना इसका ताज़ा उदाहरण है, जहां हिंसा की आग अब भी शांत नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि बसपा इसकी कड़ी निंदा करती है और दोषियों को सख्त सजा देने की मांग करती है। उन्होंने कहा कि खासकर भाजपा शासित राज्यों उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान तथा महाराष्ट्र आदि में अपराध-नियंत्रण और कानून-व्यवस्था के साथ-साथ जनहित तथा विकास का बुरा हाल है। इससे यह साबित होता है कि भाजपा एंड कंपनी का हर स्तर पर घोर अपराधीकरण हो गया है।

आईजी संजीव गुप्ता ने पत्रकारों को जानकारी दी कि अब तक 112 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें 31 के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की गई है। स्थित पूरी तरह नियंत्रण में है। पूरे शहर में सुरक्षा व्यवस्था के लिए पर्याप्त पुलिसकर्मी तैनात हैं। 

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

1 Comments

  •  
    rajiv gautam
    2018-01-30

    जब भी देश पर rss की विचारधारा थोपी जायेगी ' ' हिंसा तो होगी ही ' ' भारत के ब्राहम्ण इस देश में अपने वजूद को कायम रखने के लिये जान बूझ कर हिंसा को बढ़ावा दे रहे है ' ' और यू पी में तो सरकार भी इन्हीं की है ' ' ' ' ' साइयाँ भये कोतवाल अब डर काहे का ' ' '

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े