img

UPDATE- भगवा रंग में दिखेगा NDTV, स्पाइसजेट के मालिक अजय सिंह संभालेंगे कमान, NDTV के अधिकारिक सूत्रों ने किसी भी डील से किया इंकार

NDTV के मार्केट शेयर्स मे कुछ दिन पहले उछाल आया था, जिसके बाद ये कयास लगाए जा रहे थे कि जल्द ही NDTV के स्वामित्व को लेकर बड़े फेरबदल हो सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्पाइसजेट के को-फाउंडर अजय सिंह के साथ NDTV की डील फाइनल हो चुकी है। लेकिन NDTV के अधिकारिक सूत्रों ने किसी भी तरह की डील से साफ इंकार किया है। और BSE (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) से कहा है कि इस तरह की रिपोर्ट्स बेबुनियाद हैं, हमारी किसी से भी ऐसी कोई डील नहीं हुई है।

मीडिया में आ रही खबरों के  मुताबिक अजय सिंह ने ये सौदा करीब 600 करोड़ मे किया है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के जून 2017 तक के आंकड़ों के अनुसार NDTV में प्रमोटरों के पास 61.45 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वहीं 38.55 प्रतिशत हिस्सेदारी सार्वजनिक शेयरधारकों के पास है। अब चालीस फीसदी हिस्सेदारी अजय सिंह के पास होगी। इस डील के बाद राय दंपत्ति के पास सिर्फ बीस फीसदी ही हिस्सेदारी रह जाएगी। चैनल के संपादकीय अधिकार भी अजय सिंह के पास ही होंगे। अजय सिंह 400 करोड़ का एनडीटीवी का कर्ज भी चुकाएंगे, साथ  ही वे रॉय दंपत्ति को 100 करोड़ नकद भी देंगे।

2014 के लोकसभा चुनाव में अजय  सिंह भूमिका बहुत महत्वपूर्ण रही, नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार के दौरान स्लोगन डिपार्टमेंट का सारा पेेेमेंट अजय सिंह ने ही किया था। वो अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान प्रमोद महाजन के ओएसडी रह चुके हैं। उस दौरान उन्होंने डीडी स्पोर्ट्स और डीडी न्यूज को लॉन्च करने में प्रमुख भूमिका निभायी थी। अजय सिंह ने 2015 में स्पाइसजेट की कमान संभाली थी और उसे सफल बनाया था 

अजय सिंह साल 1996 में दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) के बोर्ड में रहे थे। उन्होंने डीटीसी के कायाकल्प की योजना बनायी थी। उनके कार्यकाल में डीटीसी बसों की संख्या 300 से 6000 हो गई थी। दिल्ली के सेंट कोलंबस स्कूल से पढ़े अजय सिंह आईआईटी दिल्ली से बीटेक हैं। उन्होंने कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से एमबीए किया है और दिल्ली विश्वविद्यालय से कानून की भी पढ़ाई की है। 

गौरतलब है कि एनडीटीवी के प्रमोटर्स प्रणय रॉय, राधिका रॉय और प्रमोटर संस्था आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड की सीबीआई वित्तीय लेन-देन के एक मामले में जांच कर रही है। 5 जून को सीबीआई ने रॉय दंपति के निवास और दफ्तर पर बैंक लोन न चुकाने से संबंधित मामले में छापा मारा था। उधर ऐसी ख़बर भी आ रही है जिसमें मि. रॉय ने कहा है कि हम एक घंटे का चैनल चला लेंगे, लेकिन चैनल को बेचेंगे नहीं।                  

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े