img

इच्छाधारी बाबा भीमानंद फिर गिरफ्तार, सेक्स रैकेट और धोखाधड़ी के आरोप में धरा गया

2009 में चर्चाओं में रहा इच्छाधारी बाबा भीमानंद को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक बार फिर से गिरफ्तार कर लिया है। उसे धोखाधड़ी और देह व्यापार के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आपको याद होगा इससे पहले भी वर्ष 2009 में इसे वेश्यावृति के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन इसे जमानत पर छोड़ दिया गया था।
वह 1988 में दिल्ली के नेहरु प्लेस स्थित एक पांच सितारा होटल में गार्ड की नौकरी करता था। 12 साल में ही स्वामी भीमानंद महाराज ने करोड़ों की संपत्ति बना ली थी। इस स्वामी की संपत्ति को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 2015 में जब्त कर लिया था। वह चित्रकूट के चमरौहा गांव का रहने वाला है। वह खुद को साईं बाबा का अवतार बताता है। अपने आप को इच्छाधारी संत स्वामी भीमानंद महाराज बताने वाले बाबा का असली नाम शिव मूर्ति द्विवेदी  है।
इस बाबा ने चित्रकूट में तीन मंजिला मन्दिर बना रखा है, जिसे धार्मिक कारणों की वजह से जब्त नहीं किया गया। इस मंदिर में अनेक सांसद और विधायक माथा टेकने आते हैं। दिल्ली के बदरपुर मंदिर में भी उसने अपना साईं मंदिर बनाया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उसके पास 2500 करोड़ रुपए की संपत्ति थी और उसके नेटवर्क में करीब 600 हाई प्रोफाइल लड़कियां थीं। रात के अंधेरे में बाबा चोला उतारकर जींस-टी शर्ट में सेक्स रैकेट चलाता था।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े