img

सहरानपुर के मण्डलायुक्त ने बच्चों को पढ़ाया ज्ञान का पाठ, शिक्षा विभाग के अधिकरियों को दी स्कूलों का भ्रमण करने की नसीहत

सहारनपुर : मण्डलायुक्त दीपक अग्रवाल ने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारी शिक्षा की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए निरंतर स्कूलों का भ्रमण करें । उन्होंने कहा प्राईमरी और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता बनाये रखने के लिए शिक्षकों का भी निरंतर प्रशिक्षण कराया जाए । उन्होंने ये भी कहा कि प्राथमिकता के आधार पर मण्डल के अधिकारी अपने-अपने जनपदों में दूर-दराज के विद्यालयों में जाकर शिक्षा के स्तर की गुणवत्ता परखें । उन्होंने 23 अगस्त, 2017 को मल्हीपुर गांव में स्थित उच्च प्राथमिक विद्यालय में पहुंचकर कक्षा 1 से 8वीं तक छात्र-छात्राओं को उनकी रूचि के अनुसार पढ़ाया और बच्चों के शिक्षा के स्तर को भी परखा ।


मण्डलायुक्त दीपक अग्रवाल ने गोद लिये मल्हीपुर गांव में अचानक पहुंचकर उच्च प्राथमिक विद्यालय में छात्रों को उनकी पसंद के विषय पढ़ाए । उन्होंने कहा कि शिक्षक का दायित्व है कि ऐसे नागरिक बनाए, जो देश और प्रदेश को एक सूत्र में पिरोने का कार्य करें । साथ ही उन्होंने कहा कि शिक्षक का ये भी दायित्व है कि वो बच्चों को उनके पाठ्यक्रम के अलावा आपसी भाई चारा और सामाजिक सद्भाव की भी शिक्षा दें । श्री अग्रवाल ने प्राथामिक विद्यालय में कक्षा 1 के छात्र हिमांशु और अभिषेक से 1 क से 10 तक की गिनती सुनी और बाद में उन्होंने पूरी कक्षा को गिनती याद कराई ।  ऐसे ही कक्षा 2 से 2 तक के छात्रों से उनकी पढ़ाई की जानकारी लेते हुए कई  प्रश्न किए और उनसे किताब पढ़वाकर देखी । इस दौरान कई बच्चों ने भी मण्डलायुक्त से सवाल किए, जिनका उन्होंने एक शिक्षक की तरह जवाब दिया ।
इसके बाद मण्डलायुक्त दीपक अग्रवाल ने स्कूल में कक्षा 6,7 और 8वीं के बच्चों को दाब और प्रेशर के अंतर को समझाया साथ ही सामान्य ज्ञान की जानकरी दी । कई बच्चों से उन्होंने प्रश्न पूछे और अच्छी पढ़ाई करने के बारे में बच्चे क्या करें इसकी जानकारी दी । इस विद्यालय के जूनियर स्कूल में 277 छात्र/छात्राएं और प्राइमरी विद्यालय में 191 छात्र/छात्राएं अध्ययनरत हैं ।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े