img

लालू के आह्वान पर उमड़ा जनसैलाब मोदी-नीतीश के लिए खतरे की घंटी

बिहार- 27 अगस्त, आज पटना का गांधी मैदान खचाखच भरा दिखा, सिर्फ मैदान ही नहीं पूरे पटना में ट्रैफिक जाम भीड़भाड़ रही, राष्ट्रीय जनता दल ने को 'भाजपा भगाओ-देश बचाओ' रैली का आयोजन किया। जिसमें राज्य के अलग-अलग इलाकों से भारी संख्या में जनसैलान उमड़ा। रैली के में पूरा विपक्ष एक साथ दिखा। इनमें आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद, सीपी जोशी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जनता दल यूनाइटेड के बागी नेता नेता शरद यादव शामिल हुए, इनके अलावा राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन, आरजेडी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह, शिवानंद तिवारी, एनसीपी के तारिक अनवर, सीपीआई के डी राजा सहित लालू यादव के परिवार के सदस्य व पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी भी मौजूद रहीं। हालांकि इस महारैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी और बसपा सुप्रीमो मायावती शामिल नहीं हुईं।
आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव जमकर नीतीश कुमार पर बरसे, उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने भाजपा से मिलकर मेरे और बच्चों पर केस कराया। उन्हें मेरे यहां छापे की जानकारी थी। मैं रांची से फोन करते रहा लेकिन वह बात नहीं किये। मेरे पास जो भी संपत्ति है, जनता के सामने है। बाढ़ आई नहीं, लाई गई थी। ठेकेदार से लेकर इंजीनियर तक एक जाति के हैं। उनपर हत्या का केस होना चाहिए। बंदी के बाद शराब की होम डिलेवरी हो रही। सिपाही की अहर्ता इंटर कर दिया गया है। मेरा राज आया तो सातवां पास को सिपाही बनाऊंगा। उन्होंने कहा कि मैं फांसी पर चढ़ जाउंगा लेकिन सांपृदायिक ताकतों हाथ नहीं मिलाऊंगा। सृजन घोटाला सुशील मोदी की देखरेख में हुआ है। वहीं से चुनाव फंड आता था।  सृजन घोटाले के क़ागज मेरे पास हैं,  ये नीतीश कुमार की अंतिम पलटी है. संघ मुक्त भारत का नारा देते थे, बीमारी का बहाना बनाकर हमसे दूरी बनाई और संघ की गोद में जा बैठे। नीतीश का कोई सिद्धांत नहीं है।
लालू यादव ने ये भी कहा, बिहार में एनडीए के सभी नेता मेरे प्रॉडक्ट हैं, शरद यादव ने नीतीश कुमार को मंत्री बनाया, नीतीश को मैंने सींचा था, नीतीश ने राष्ट्रपति चुनाव में धोखा दिया। अगर धोखा नहीं देते तो आज बिहार की बेटी मीरा कुमार राष्ट्रपति होतीं। नीतीश को मेरे बेटे से जलन थी क्योंकि नीतीश को तेजस्वी यादव से ख़तरा महसूस हो रहा था। आज हमारे साथ 80 विधायक हैं, लोगों ने मेरा चेहरा देख कर वोट दिया था।

रैली के दौरान आरजेडी नेता और सूबे के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जम कर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि नीतीश हमारे चाचा थे और रहेंगे लेकिन वो अच्छे चाचा नहीं हैं। उन्होंने कहा कि तेजस्वी तो बहाना था, इन्हें सृजन घोटाला छुपाना था। शरद यादव ने कहा कि बिहार के लोगों ने महागठबंधन को जनादेश दिया था। उन्होंने ये भी कहा कि मुझे सत्ता का मोह नहीं है और देश स्तर पर महागठबंधन बनेगा। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पटना को ऐतिहासिक धरती क़रार देते हुए कहा कि ये धरती अगर रथ रोक सकती है तो बीजेपी को भी रोक सकती है। उन्होंने कहा कि तीन साल से ज़्यादा वक्त बीत चुका है, क्या अच्छे दिन आए हैं, ये सरकार को बताना चाहिए। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि लालू ने नीतीश का साथ नहीं छोड़ा बल्कि नीतीश ने लालू का साथ छोड़ा है, उन्होंने केंद्र को निशाना बनाते हुए कहा कि काम मन से होता है, भाषणों से नहीं, देश में बेरोजगारी बढ़ी है, अच्छे दिन के नाम पर दलितों और अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहा है। बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने केंद्र और नीतीश कुमार पर एक साथ निशाना साधा। उन्होंने कहा, दंगाइयों को भगाइये, देश बचाइये, बिहार से नीतीश को भगाएं. पलटू राम पलट गए। रात भर में इनका विवाह हो गया बीजेपी से। नीतीश मर्डर किए हैं। सृजन घोटाला हुआ है, काला नाग हैं ये, इनको बिहार से भगाना है, नीतीश-मोदी खज़ाना चोर, गद्दी छोड़, बिहार की जनता जो कहेगी वो हम करेंगे, हमलोग एक जुट होंगे, कर्पूरी ठाकुर, लोहिया जी के सपने को पूरा करेंगे।  

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े