img

UPDATE- डेरा प्रमुख दोषी करार, फैसले के बाद समर्थकों ने मचाया तांडव

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन शोषण केस में पंचकूला की सीबीआई अदालत ने  दोषी करार दिया। सजा 28 तारीख को सुनाई जाएगी। कोर्ट का फैसला आते ही डेरा प्रेमी भड़क गए। पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में जमकर हिंसा की, डेराप्रेमी अब तक 100 से ज्यादा गाड़ियों को आग लगा चुके हैं। इसकी लपटें दिल्ली गाजियाबाद और नोएडा तक भी पहुंची। हालात को देखते हुए नोएडा और गाजियाबाद में धारा 144 लगा दी गई।

  

  पंचकूला में हिंसा के बाद कर्फ्यू लगा दिया है। वहीं 29 लोगों की मौत हो गई। और करीब 400 लोग घायल हो गए, इनमें पुलिस, फोर्स के जवान और मीडियाकर्मी भी शामिल हैं। पंचकूला में कर्मचारी चयन आयोग और एलआईसी की इमारत में आग लगा दी गई। सेक्टर 6 हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है। घायलों में पुलिस वाले भी हैं। डेराप्रेमियों को खदेड़ेने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस के गोले छोड़े। हवाई फायर की भी सूचना है। भड़के डेरा प्रेमियों ने 3 न्यूज चैनल की ओबी वैन में भी आग लगा दी। सेक्टर 5 में भी आंसू गैस के गोले छोड़े गए। सेक्टर 4 में गोलियां चल गई। सेक्टर 5 में लाठीचार्ज। राम रहीम के समर्थकों ने ऐसा तांडव रचा कि तैनात फोर्स को भी पीछे हटना पड़ा। पंजाब में भी हालात बिगड़े। बठिंडा में भी कर्फ्यू की सूचना। खबर मिल रही है ​कि पंचकूला में पथराव के बाद पुलिस पीछे हट गई है। शिमला हाइवे पर कारें तोड़ी गईं। पंजाब के मानसा और मलोट में रेलवे स्टेशन पर आगजनी की सूचना है। दमकल की गाड़ियों में भी आग लगा दी गई है।



चंडीगढ़ में हैफेड के बाहर गोलियां चलीं, पंजाब में फाजिल्का स्टेशन पर फिरोजपुर डिपो की बस फूंकी, फिरोजपुर में अघोषित कर्फ्यू। संगरूर में बिजली घर फूंक दिया गया। पंचकूला में सौ से ज्यादा गाड़ियां फूंकी गई। तीन न्यूज चैनलों की ओबी वैन को आग के हवाले कर दिया गया। एक टीवी चैनल के कैमरामैन भी हमला किया और वो घायल हो गए। राम रहीम को दोषी करार देने के बाद समर्थकों द्वारा की गई आगजनी व तोड़फोड़ पर सख्त रवैया अपनाते हुए हाईकोर्ट ने स्पष्ट कर दिया कि जो भी नुक्सान हो रहा है उसकी भरपाई डेरे की संपत्ति अटैच करके होगी। इसके साथ ही ऐसे लोगों को पहचाने करने के लिए वीडियोग्राफी के आदेश भी दिए गए हैं ताकि इनको सजा दी जा सके।



राम रहीम को सजा सुनाने के बाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट के सामने धीरे-धीरे पंचकूला सहित हरियाणा-पंजाब में बन रहे जंगलराज का नजारा आने लगा। धीरे-धीरे आगजनी, तोडफोड़ व हिंसा की घटनाओं के बारे में वकीलों ने कोर्ट को जानकारी दी। इसपर हाईकोर्ट ने डेरा की ओर से मौजूद वकील को फटकार लगाते हुए कहा कि डेरे ने हिंसा न होने का आश्वासन दिया था और अब वह पीठ दिखा रहा है। कोर्ट ने कहा कि इस प्रकार सरकारी और गैर सरकारी संपत्ति को हुए नुक्सान की भरपाई की जिम्मेदारी से डेरा पीछे नहीं हट सकता।

कोर्ट ने कहा कि जो कुछ भी हो रहा है उससे जो भी नुक्सान होगा उस नुक्सान की भरपाई डेरे की संपत्ति को बेचकर भी कर लेंगे। कोर्ट ने कहा कि डेरा अपनी पूरी संपत्ति का ब्यौरा हाईकोर्ट में सौंपे। इसके साथ ही शरारती तत्वों की पहचान कर उन्हें सबक सिखना जरूरी है और इसके लिए हाईकोर्ट ने कार्रवाई की वीडियोग्राफी करवाने के आदेश दिए। कोर्ट ने कहा कि इसके जरिए ऐसे लोगों की पहचान की जाएगी और उन लोगों पर मामला दर्ज करने के साथ ही उनकी संपत्ति को अटैच कर उससे नुक्सान की भरपाई की जाएगी। इससे ऐसे दंगाईयों को एक सबक मिलेगा और वे इस प्रकार की गतिविधि में शामिल होने से पहले हजार बार सोचेंगे।

जानकारों की मानें तो बाबा को मामले में 7 साल तक की कैद हो सकती है। हालांकि अभी उनके पास हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट का विकल्प मौजूद है।  फैसले के तुरंत बाद बाबा को हिरासत में ले लिया गया,  बाबा को हेलीकॉप्टर से रोहतक जेल ले जाया गया। 28 अगस्त को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सजा सुनाई जा सकती है।

विनोद लाहोट
विनोद लाहोट
संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े