img

एक मंच पर आए मुलायम-शिवपाल, कहा नेताजी आदेश करो सपा आपके साथ है

इटावा के प्रदर्शनी पंडाल में मंगलवार को आजादी के जश्न के मौके पर मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव एक साथ एक मंच पर दिखे। जिसके बाद अटकलें लगाई जा रही थीं कि शायद मुलायम कोई बड़ी घोषणा करेंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। जिसके बाद से अखिलेश गुट में खासी खुशी दिख रही है, लेकिन शिवपाल खेमे में खासा मायूसी छा गई है। कार्यक्रम का शुभारंभ मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव ने गुब्बारे और कबूतर उड़ा कर किया। शहीदों की श्रद्धांजलि यात्रा का शुभारंभ करने के बाद मुलायम ने कहा कि चीन और पाकिस्तान से भारत को खतरा है। पाक और चीन गठबंधन करके भारत पर हमले की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे में भारत को दोनों देशों से सतर्क रहने की जरूरत है। स्वन्त्रता दिवस के उपलक्ष्य में इटावा में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने समाजवादियों के संघर्ष को याद करते हुए कहा कि देश की आजादी में समाजवादियों का महत्वपूर्ण स्थान रहा है इसलिए हमें इस आजादी के महत्व को समझना चाहिए। हालांकि मुलायम और शिवपाल खेमे को उम्मीद थी कि नेता जी सपा और अखिलेश के खिलाफ बोलेंगे लेकिन मुलायम ने अखिलेश के खिलाफ एक भी शब्द नहीं बोला। उनका भाषाण सिर्फ आजादी के नाम रहा। शिवपाल ने अपने भाषण में कहा कि समाजवादी पार्टी को नेताजी ने अपने संघर्ष से बनाया, लेकिन कुछ लोग पार्टी को कमजोर करने का काम कर रहे हैं, और जो लोग पार्टी को कमजोर कर रहे हैं उन्हें पहचानने की जरूरत है, जिन्होंने कोई मेहनत नहीं की वे पार्टी को कमजोर कर रहे हैं। 1 जनवरी को नेता जी का अपमान हुआ इसीलिए लोकसभा और विधानसभा के चुनाव में पार्टी की हार हुई। वरना आज प्रदेश की और देश की राजनीति की दिशा कुछ और ही होती, नेताजी जिसे चाहते उसे राष्ट्रपति बनाते। उन्होंने कहा अगर नेताजी का आदेश होगा तो इटावा से ही लोग सड़कों पर उतर कर संघर्ष करेंगे। उन्होंने नेता जी से आह्वान किया कि नौजवान तैयार है फौज पीछे खड़ी है और लोग आपकी तरफ देख रहे हैं और इंतजार की कोई जरूरत नहीं है। अब फैसला लेने का वक्त आ गया है। देश का नौजवान मुसलमान एक बार फिर मुलायम सिंह यादव की तरफ निगाह उठा कर देख रहा है। मुलायम सिंह करीब आधे घंटे बोले उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन में लोहिया, जय प्रकाश नारायण के योगदान को गिनाया और कहा कि देश के सामने भुखमरी, बेरोजगारी व भ्रष्टाचार जैसे समस्याएं खड़ी हैं। समाजवादी पार्टी की नीतियों को सही ठहराते हुए उसकी कथनी करनी में कोई अंतर नहीं बताया। नौजवानों को संकल्प दिलाया कि वह सब अन्याय का विरोध करें और न्याय का साथ दें। इटावा व आसपास के जनपदों से बड़ी संख्या में लोग मुलायम सिंह यादव को सुनने आए थे। सपा में चल रही रस्साकशी के बाद यहां जुटी भीड़ को देखकर मुलायम खासे खुश दिख रहे थे। 

ओम प्रकाश
ओम प्रकाश
ब्यूरो चीफ
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े