img

मुकेश अंबानी बने एशिया के सबसे अमीर शख्स, 50 लोगों की लिस्ट में पहले नंबर पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे घनिष्ट मित्रों में शामिल रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं। मशहूर अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फोर्ब्स ने बुधवार को एशिया के 50 सबसे अमीर परिवारों की सूची जारी की। इनकी कुल संपत्ति 45.43 लाख करोड़ रुपए आंकी गई है। एक साल पहले की तुलना में यह 35% बढ़ी है। फोर्ब्स के मुताबिक अंबानी के पास 2.91 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति है। पिछले साल की तुलना में इसमें 74% यानी 1.23 लाख करोड़ रुपए का इज़ाफा हुआ है। 

पिछले कुछ सालों से रिलायंस इंडस्ट्री का सालाना नेट प्रॉफिट 12 फीसद से ज्यादा की दर से बढ़ रहा है। मुकेश अंबानी की नेटवर्थ में 72,800 करोड़ यानी 28% बढ़ोतरी हुई है। पिछले साल 1.92 लाख करोड़ रुपए की नेटवर्थ के साथ ली परिवार एशिया में सबसे ज्यादा अमीर था।
दक्षिण कोरिया का ली परिवार 2.65 लाख करोड़ की संपत्ति के साथ दूसरे नंबर पर है। यह परिवार कोरिया की सबसे बड़ी कंपनी सैमसंग का प्रमोटर है। कंपनी के शेयर भाव एक साल में 75% बढ़े हैं। 

एक साल में अंबानी की संपत्ति सर्वाधिक 1.23 लाख करोड़ बढ़ी अंबानी परिवार की संपत्ति में सबसे ज्यादा 74% बढ़ोतरी हुई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज का ऑयल रिफाइनिंग मार्जिन बढ़ने और जियो के कारण कंपनी के शेयर एक साल में 78% बढ़े हैं।

भारत के सहगल (टीएसजी) और वाडिया समेत छह परिवार पहली बार इस लिस्ट में शामिल हुए हैं। सहगल परिवार 40,000 करोड़ की नेटवर्थ के साथ 41वें और वाडिया भी लगभग इतनी ही संपत्ति के साथ 42वें नंबर पर हैं। 2016 से तुलना करें तो 43 परिवारों की संपत्ति में इजाफा हुआ है। फोर्ब्स ने नेटवर्थ के आंकलन में 31 अक्टूबर की स्टॉक वैल्यू को लिया है। 50 लोगों की सूची में सबसे ज्यादा 18 लोग भारत के हैं। 

एशिया के पांच सबसे अमीर :- 
1. अंबानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज, भारत,  2.91
2. ली, सैमसंग इंडस्ट्रीज, द. कोरिया,  2.65
3. क्वोक, सुन हंग काइ प्रोपर्टीज, हांगकांग,  2.62
4. चियारावानोंत, चैरोइन पोकफांद ग्रुप, थाइलैंड,  2.18
5. हारतोनो, तंबाकू बिजनेस, इंडोनेशिया,  2.08
(नेटवर्थ लाख करोड़ रुपए में)

भारत के पांच सबसे अमीर :- 
1. मुकेश अंबानी,  291
2. अजीम प्रेमजी, 125
3. एल.एन. मित्तल, 112
4. साइरस मिस्त्री, 104
5. कुमारमंगलम बिड़ला, 91.6
(नेटवर्थ हजार करोड़ रुपए में)

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े