img

मंदसौर- रेप पीड़ित बच्ची के दिल दहला देने वाले शब्द "मां मुझे ठीक कर दो या मार डालो।"

मध्यप्रदेश- इंदौर के महाराजा यशवन्तराव होलकर चिकित्सालय (एमवाय अस्पताल) में भर्ती मंदसौर की मासूम पीड़िता की हालत स्थिर बताई जा रही है। हादसे के बाद से मासूम बच्ची सहमी हुई है। इंजेक्शन लगाने या छूने पर भी वह डर जाती है। तीसरी क्लास में पढ़ने वाली बच्ची शुक्रवार को दर्द से इतना तड़प रही थी कि उसके शब्द सुनकर मां का कलेजा कांप उठा, "मां मुझे ठीक कर दो या मार डालो।" बच्ची एक पल के लिए भी अपनी मां को नहीं छोड़ रही है। डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची के जख्मी अंगों का ऑपरेशन किया जा चुका है। अब उसे संक्रमण से बचाना सबसे बड़ी चुनौती होगी। घाव भरने में दो हफ्ते का समय लग सकता है। जिसके बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है।

बच्ची के साथ हैवानियत करने वाला दूसरा आरोपी आसिफ शुक्रवार को गिरफ्तार हो गया। उसने कबूल किया कि वे बच्ची को लड्डू खिलाने का लालच देकर ले गए थे। मामले के आरोपी इरफान के गांव रिंगनोद के निवासियों ने कहा है कि फांसी के बाद इरफान का शव गांव में नहीं दफनाने देंगे। शुक्रवार को पूरे अंचल में बच्ची के साथ बलात्कार और हैवानियत करने वाले इन दोनों आरोपियों को फांसी देने की मांग को लेकर प्रदर्शन हुए। मंदसौर के कालिदास मार्ग पर रैली में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हुईं।  

पीड़ित बच्ची एमवाय अस्पताल में पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग के वार्ड नंबर 15 में भर्ती है। बच्ची की गर्दन, हाथ और पैरों पर ज़ख्म हैं और पूरे शरीर पर पट्टियां बंधी हुई हैं। उसकी आंखों के आसपास कालापन और सूजन है। बच्ची का इलाज कर रहे पीडियाट्रिक सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. ब्रजेश लाहोटी ने बताया कि अब उसकी हालत खतरे से बाहर है। उन्होंने उम्मीद जताई कि घाव ठीक होने के बाद वह सामान्य बच्चों की तरह जिंदगी बिता सकेगी। 

हाईकोर्ट की इंदौर बेंच में एक जनहित याचिका दायर कर मांग की गई है कि पीड़ित बच्ची का इलाज ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (एम्स) नई दिल्ली में सरकारी खर्च पर कराया जाए। आनंद ट्रस्ट की ओर से सत्यपाल आनंद ने याचिका दायर की है। याचिका में उन्होंने पीएम और सीएम को पक्षकार बनाया है। याचिका में राज्य सरकार को जवाबदार मानते हुए बर्खास्त करने की भी मांग की गई है। 

बाल आयोग के सदस्य ब्रजेश चौहान बच्ची को देखने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत कड़ी कार्रवाई की बात कही। मंदसौर के भाजपा सांसद सुधीर गुप्ता अस्पताल में बच्ची का हाल जानने पहुंचे, उन्होंने कहा कि केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलना चाहिए। उसी समय भाजपा विधायक सुदर्शन गुप्ता ने शर्मनाक हरकत करते हुए बच्ची के माता-पिता से कहा, "सांसद जी आपसे मिलने आए हैं, इनका धन्यवाद करो।"


मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े