img

उत्तर प्रदेश - न्यू इंडिया की डराने वाली तस्वीर के लिए पुलिस ने माफी मांगी

उत्तर प्रदेश- बीती 18 जून को हापुड़ ज़िले में गोकशी के शक में दो लोगों की पिटाई तथा पुलिसकर्मियों के सामने अधमरी हालत में एक शख़्स को अमानवीय तरीके से ले जाने की फोटो और वीडियो वायरल हो जाने के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस घटना को लेकर माफी मांगी है। और एक इंस्पेक्टर व दो सिपाहियों को लाइन हाजिर कर जांच के आदेश भी दे दिए हैं।

अपने ट्विटर हेंडल पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने लिखा है, "वी आर सॉरी, क़ानून व्यवस्था के मामले कई बार ऐसे होते हैं कि अनजाने अनचाहे कुछ बातें हो जाती हैं."

डीजीपी, हेडक्वार्ट्स, उत्तरप्रदेश पुलिस की ओर से इस घटना पर माफ़ी मांगते हुए ट्वीट किया गया, "हम इस घटना के लिए माफ़ी माँगते हैं. इन तस्वीरों में जो तीन पुलिसकर्मी दिख रहे हैं उन्हें पुलिस लाइन भेज दिया गया है और मामले के जाँच की जा रही है। ये तस्वीर उस समय ली गई हैं जब पुलिस घटनास्थल पर पहुँची ही थी और पीड़ित को अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन दुर्भाग्यवश उस वक़्त कोई एंबुलेंस उपलब्ध नहीं थी इसलिए पीड़ित को इस तरह उठाना प़ड़ा।"

उन्होंने लिखा, "हम ये मानते हैं कि उस समय पुलिस को और संवेदनशील होना चाहिए था। जान बचाने की हड़बड़ी और क़ानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी के बीच मानवीय चिंताएं दरकिनार हो गईं। दूसरी तस्वीरों से स्पष्ट है कि पीड़ित को पुलिस रिस्पॉन्स व्हीकल से अस्पताल ले जाया गया।"

गौरतलब है कि 18 जून को हापुड़ जिले के पिलखुआ इलाके के बछेड़ा खुर्द गांव में समीउद्दीन और कासिम पर ग्रामीणों ने गोहत्या के शक में हमला बोल दिया था। दोनों को इतना पीटा गया कि कासिम की मौत हो गई थी।

हालांकि, पुलिस का कहना है कि वे दोनों बाइक से जा रहे थे। रास्ते में पिलखुआ क्षेत्र के बछेड़ा गांव में एक मोटरसाइकिल सवार व्यक्ति से किसी बात को लेकर उनकी कहासुनी हो गई थी। उस व्यक्ति ने अपने कई साथियों को बुलाकर कथित रूप से कासिम तथा समीउद्दीन की पिटाई कर दी थी। 

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े