img

विश्विद्यालयों में हो रहा है आरक्षण से खिलवाड़

नई दिल्ली, 17 अगस्त 2017, सेंटर फॉर सोशल डेवलपमेंट (सीएसडी) ने दिल्ली विश्विद्यालय के दौलत राम कालेज में अभिनंदन समारोह का आयोजन किया। जिसमें लोकसभा सांसद और अनुसूचित जाति आयोग के चेयरमैन प्रो रामशंकर कठेरिया का शॉल और प्रतीक चिन्ह भेंट कर स्वागत किया गया।

प्रो रामशंकर कठेरिया ने अपने विचार रखते हुए कहा कि वर्तमान सरकार ने गरीबों, वंचितों, मजदुरों और किसानों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं शुरू की हैं, जिनका फायदा इन लोगों तक पहुंचना चाहिए। यदि दलित और कमजोर के साथ किसी भी तरह का अन्याय होता हैं तो आयोग हमेशा उसके साथ है। प्रो कठेरिया जी ने विश्वास दिलाया कि जब तक मैं आयोग का चेयरमैन हूँ सबको न्याय दिलाने की कोशिश करूँगा।

सीएसडी ने प्रोफेसर कठेरिया के सामने कई गंभीर मुद्दे उठाते हुए बताया कि किस तरह दिल्ली विश्विद्यालय में संविधान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है और आरक्षण भारत सरकार के नियमो के अनुसार नहीं दिया जा रहा है। दिल्ली विश्विद्यालय के विभागों और कॉलेजो में स्थायी एवं अस्थायी नियुक्तियों में एससी/एसटी/ओबी,सी के कैंडिडेट्स को नॉन फाउंड सुटेबल (NFS) किया जा रहा हैं। इसके अलावा हाल ही पी.एच.डी के एडमिशन में फिजिक्स एवं गणित में अनुसूचित जाति/जनजाति/पिछड़े वर्गों के छात्रों को लिया ही नहीं गया। इसी तरह जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्विद्यालय भी अल्पसंख्यक संस्था के नाम पर आरक्षण नहीं दे रहे हैं।

सीएसडी ने प्रो कठेरिया से दिल्ली विश्विद्यालय में बाबासाहब डॉ भीमराव अंबेडकर के नाम पर अंबेडकर चेयर स्थापित करने की माँग की, आयोग के चेयरमैन प्रो रामशंकर कठेरिया ने आश्वासन दिया कि आप मुझे लिखित में दीजीए इन सब मुद्दों पर जरूर कार्यवाही की जाएगी। कार्यक्रम में करीब 250 अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्गों के शिक्षक और बुद्धिजीवियों ने शिरकत की। जिनमे प्रमुख रुप से डॉ आईएम कपाही, मेंबर यूजीसी, डॉ एके भागी, सदस्य कार्यकारी परिषद दिल्ली विश्विद्यालय, कई फैकल्टी डीन, प्रोफेसर और प्रिंसिपल भी शामिल हुए। इस मौके पर सीएसडी के चेयरमैन प्रो राजकुमार फलवारिया ने कार्यक्रम में भविष्य की कार्ययोजनाओ के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ केपी सिंह, कोऑर्डिनेटर लाइब्रेरी साइंस विभाग एवं अकेडमिक कॉउंसिल सदस्य ने की, इसके अलावा कार्यक्रम का संचालन डॉ मनोज कुमार कैन ने किया और और सभी अथितियों का धन्यवाद सीएसडी के महासचिव महेन्द्र कुमार मीणा ने किया।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े