img

दलित किसान की पीट-पीटकर हत्या, बूढ़ी मां को भी बेरहमी से पीटा, अस्पताल में भर्ती

उत्तर प्रदेश- इटावा जिले के सहसो इलाके के मिटहटी गांव मे दबंगों ने दलित किसान को पीट-पीटकर मार डाला। बीच बचाव करने आई किसान की मां की बुरी तरह पीटा, जो गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है।  

इटावा के थाना सहसो क्षेत्र के मिटहटी गाँव में दलित किसान पंकज के मकान पर दबंगों ने कब्ज़ा कर रखा था। जिसका वह पिछले 14 सालों से कोर्ट में केस लड़ रहा था और अब केस जीतने के बाद जब वो दबंगों से अपना मकान का कब्ज़ा लेने गया तो दबंगों ने लाठी-डंडों और लोह की रॉड से पीट-पीटकर मार डाला।  

मृतक किसान पंकज की मां ने बताया कि हम 14 साल से सिविल कोर्ट में मुकदमा लड़ रहे थे और मुकदमा जीतने के बाद जब पंकज मकान पर कब्ज़ा लेने के लिए कोर्ट का आदेश लेकर सहसो थाने गया और थानेदार से मकान पर कब्ज़ा दिलवाने के लिए सहायता मांगी तो थानेदार ने उसे थाने से भगा दिया और कहा कि अपने दम पर मकान खाली करवाओ । जिसके बाद पंकज अकेले ही मकान का कब्ज़ा लेने चला गया और दबंगों से मकान खाली करने को कहा लेकिन दबंगों ने पंकज को लाठी-डंडो और लोहे की रॉड से पीटना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान जब वो अपने बेटे का बीच-बचाव करने पहुंची तो दबंगों ने उनको भी बुरी तरह पीटा।    

इटावा के अपर पुलिस अधीक्षक जितेंद्र श्रीवास्तव ने जानकारी दी कि पंकज की हत्या करने वाले सभी आरोपी फरार हो गए हैं। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और उनकी तलाश की जा रही है, उन्होंने कहा कि मामले में अगर थानाध्यक्ष की लापरवाही पाई गई तो उस पर भी सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी। बेशक इस मामले में पुलिस की लापरवाही साफ साफ दिख रही है।  

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

  • काश, समय से पहले ना गए होते कांशीराम....

    कांशीराम जी की 11वीं पुण्यतिथि पर विशेष...ये कहने में शायद किसी को कोई ऐतराज नहीं होगा कि बाबा साहब के बाद कांशीराम जी बहुजनों के सबसे बड़े नेता थे। और उनकी असमायिक मौत से बहुजन समाज का जो नुकसान…

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े