img

गरबा देखने आए दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी फ़रार

गुजरात में दलितों के खिलाफ उत्पीड़न दिन ब दिन बढ़ते ही जा रहे हैं, ताजा मामला आणंद जिले का है जहां गरबा देखने आए एक दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। मृतक का नाम जयेश सोलंकी बताया जा रहा है।  

पुलिस ने बताया कि जयेश सोलंकी, उसका रिश्तेदार प्रकाश सोलंकी और दो अन्य लोग भद्रानिया गांव में एक मंदिर के बगल में स्थित घर के पास बैठे थे। उस वक्त वहां गरबे का आयोजन हो रहा था। तभी एक शख्स ने उनकी जाति के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की। आरोपी ने कहा कि दलितों को गरबा देखने का अधिकार नहीं है। उसने जातिवादी टिप्पणी की और अपने कुछ साथियों को मौके पर बुला लिया। इसके बाद जयेश सहित अन्य दलितों की पिटाई कर दी गई। इस दौरान आरोपियों ने जयेश का सिर एक दीवार पर दे मारा। जयेश बुरी तरह घायल हो गया।

जयेश को तुरंत करमसद अस्पताल ले जाया गया। उसे रात भर गंभीर हालत में अस्पताल में रखा गया। सुबह डॉक्टरों ने बताया कि उसकी मौत हो चुकी है। डिप्टी एसपी, एससीएसटी सेल एएम पटेल ने बताया कि पुलिस ने तरहरीर के आधार पर आठ के खिलाफ क्रूरता अधिनियम और हत्या की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है। हालांकि अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

पुलिस उपाधीक्षक (एससी/एसटी प्रकोष्ठ) एएम पटेल ने जानकारी दी कि आरोपियों और पीड़ित के बीच कोई दुश्मनी सामने नहीं आई है। घटना आपस में अचानक हुई गर्मा-गर्मी से हुई। उन्होंने बताया कि पुलिस घटना के हर पहलू पर जांच कर रही है। आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

  • काश, समय से पहले ना गए होते कांशीराम....

    कांशीराम जी की 11वीं पुण्यतिथि पर विशेष...ये कहने में शायद किसी को कोई ऐतराज नहीं होगा कि बाबा साहब के बाद कांशीराम जी बहुजनों के सबसे बड़े नेता थे। और उनकी असमायिक मौत से बहुजन समाज का जो नुकसान…

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े