img

अहमदाबाद- मूंछ रखने और शॉर्टस पहनने पर दलित युवक की बेरहमी से पिटाई, आईसीयू में भर्ती

गुजरात- अहमदाबाद में बावला क्षेत्र के कविथा गांव में एक दलित युवक के शॉर्टस पहनने और मूंछ रखने के बाद राजपूत समाज के लोग इतना गुस्सा गए कि उन्होंने धारदार हथियारों के साथ दलित युवक पर हमला कर दिया बीच बचाव में आए युवक के पिता समेत पांच अन्य लोग भी घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

दलित समुदाय ने आरोप लगाया है कि दलित युवक का कसूर केवल इतना था कि उसने मूंछें रखी थी और शॉर्ट्स पहन रखा था। इससे नाराज राजपूत समाज के लोगों ने दलित युवक विजय मकवाना की पिटाई कर दी और चाकू मारकर घायल कर दिया।

पुलिस ने इस मामले में 7 लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास करने का मामला दर्ज किया है। दूसरी ओर, राजपूत समाज के जरिये दलितों पर क्रॉस एफआईआर दर्ज कराई गई है। दोनों ही गुटों ने एक-दूसरे पर मारपीट करने का आरोप लगाया है।

पुलिस की एफआईआर में कहा गया है कि महावीर सिंह राठौड और एक अज्ञात व्यक्ति ने विजय मकवाना का पीछा किया और उसे धमकी दी कि आगे से उसने मूंछें रखी या दोबारा शॉर्ट्स पहना तो उसका गंभीर परिणाम भुगतना पड़ेगा।

थोड़ी देर में राजपूत समुदाय के अन्य लोग भी वहां पर आ गए तथा विजय मकवाना और दूसरे लोगों के साथ मारपीट करने लगे। संजय के पिता वीनू मकवाना ने जब उसे छुड़ाने का प्रयास किया तो उन पर भी तेज धार वाले हथियार से हमला किया गया। जिससे वह भी घायल हो गए। दोनों फिलहाल अहमदाबाद में एक अस्पताल में भर्ती हैं। घायल विजय की सर्जरी की जा चुकी है, उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है।

पुलिस उपाधीक्षक पी डी मानवर ने बताया कि, मंगलवार रात को कविता गांव में यह झड़प हुई जिसके बाद दोनों समुदायों के सदस्यों ने एक दूसरे के विरुद्ध बावला थाने में शिकायतें दर्ज करायीं। उन्होंने बताया कि राजपूत समुदाय के पांच लोग पूछताछ के लिए हिरासत में लिये गये हैं। 

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े