img

मायावती ने यूपी में योगी सरकार और बीजेपी पर साधा निशाना, योगी राज के एक वर्ष के कार्यकाल को ‘एक साल, बुरी मिसाल’ की संज्ञा दी

बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बीजेपी यूपी की योगी सरकार  पर जमकर निशाना साधा है। मायावती ने योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल को ‘एक साल, बुरी मिसाल’ की संज्ञा देते हुए कहा कि यही कारण है कि गोरखपुर और फूलपुर के लोकसभा उपचुनाव में जनता ने उन्हें सबक सिखा दिया है और इस प्रकार योगी सरकार के शासनकाल का आकलन करते हुए यहां की जनता ने उन्हें जीरो अंक दिया है। 

यूपी में सोमवार को योगी सरकार के कार्यकाल का एक साल पूरा करने पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में पार्टी की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा किप्रदेश की आम जनता से घोर वादाखिलाफी करने और उसे केवल लच्छेदार बातों में फुसलाने और धार्मिक उन्मादों में बहकाने की भूल करने का ही नतीजा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोअपनी परंपरागत लोकसभा सीट भी गंवानी पड़ी है। इससे पहले शहरी निकाय केचुनाव में भी वो अपने मठ की सीट पर चुनाव हार गए थे। यह इस बात का प्रमाण है कि जनता को कभी भी मूर्ख नहीं समझना चाहिए और ना ही बार-बार उसे बेवकूफ बनाने की कोशिश करनी चाहिए। मायावती ने ये भी कहा कि ख़ुद बीजेपी के लोग भी अब ये कहने को मजबूर हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपनी करनी के कारण ही बीजेपी की लुटिया यहां डूबी है।   

मायावती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि योगीकी सरकार द्वारा एक वर्ष के भीतर सर्वसमाज के गरीबों, मजदूरों, बेरोजगारों औरआम जनता के हित व कल्याण पर ध्यान केंद्रित करने के बजाए कर्मकांड, पूजापाठ में ही ज्यादा समय लगाती रही। जबकि जनता के हित के लिए सही नीयत और निष्ठा भाव से काम करना ही असली पूजा और सच्चा राजधर्म है। उन्होंने ये भी कहा कि योगी सरकार किस मुंह से ये गलत दावा करती है कि प्रदेश में उसके शासनकाल में सांप्रदायिक दंगे नहीं हुए हैं। एक तो ज़्यादातर दंगाई या तो सरकार में हैं या फिर सत्ता का दुरुपयोग करने में व्यस्त हैं तथा उन पर से दंगों के मुकदमें भी वापस लिए जा रहे हैं और दूसरे कम से कम योगी सरकार को कासगंज के दंगे को तो नहीं भूलना चाहिए। 

ओम प्रकाश
ओम प्रकाश
ब्यूरो चीफ
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े