img

उत्तरप्रदेश- बीजेपी के सांसद और विधायक के बीच जूतमपैजार

उत्तरप्रदेश के संतकबीर नगर में बुधवार की शाम को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला योजना समिति की बैठक के दौरान बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल आपस में भिड़ गए और जमकर जूतमपैजार हुई। 

वहां मौजूद चश्मदीदों ने जानकारी दी कि शिलापट्ट में बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी का नाम नहीं था, जिसको लेकर शरद त्रिपाठी और बीजेपी विधायक राकेश सिंह के बीच विवाद शुरू हो गया. इसी दौरान सांसद शरद त्रिपाठी ने जूता निकाल लिया और बीजेपी विधायक की जमकर पिटाई कर दी.

बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने अपने पैर से जूता निकाला और विधायक को मारने लगे. बगल में मौजूद धनघटा विधायक श्रीराम चौहान, प्रदेश सरकार के प्राविधिक शिक्षा एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री व जिले के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन, डीएम रवीश कुमार गुप्ता आदि यह घटना देख दंग रह गए.मंत्री, डीएम व विधायक ने बीच बचाव कराया.

सांसद और विधायकों में हुई मारपीट को गंभीरता से लेते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने संतकबीर नगर के सांसद शरद त्रिपाठी और मेहदावल के विधायक राकेश सिंह के बीच हुई मारपीट की घटना का गंभीरता से संज्ञान लिया है. पांडे ने दोनों नेताओं को लखनऊ तलब करते हुए कहा है कि यह व्यवहार अशोभनीय एवं अमर्यादित है. पार्टी इनके खिलाफ कड़े कदम उठाएगी.

वायरल वीडियो में साफ तौर पर दिख रहा है कि बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी इंजीनियर से कुछ सवाल पूछ रहे हैं.इसी बीच विधायक राकेश सिंह उन सवालों में कूद पड़ते हैं.सांसद शरद त्रिपाठी ने शिलापट्ट में नाम न होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए पूछा- यह किसी गाइडलाइन में है.इस पर विधायक राकेश सिंह बोले- ऐसा है उसमें मुझसे बात कर लीजिएगा, मैंने लगवाया है… आप क्या हैं. और  इसी के बाद दोनों के बीच मारपीट शुरू हो गई.सोशल मीडिया पर भी इसका वीडियो खूब वायरल हो रहा है.

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े