img

दिल्ली की हुँकार रैली से चंद्रशेखर का ऐलान, मोदी को नहीं पहुंचने देंगे दिल्ली की गद्दी तक

नई दिल्ली- भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर ने दिल्ली के जंतर-मंतर से बहुजन हुंकार रैली की.  इस दौरान उन्होंने न सिर्फ मोदी सरकार बल्कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आज यहां कई जगह इंटरनेट बंद कर दिया गया है.12 तारीख को प्रशासन ने हमारा कार्यक्रम रोकने की कोशिश की लेकिन आज भारी संख्या में लोग यहां जुटे, यह सब कुछ बयां कर रहा है. पूरे देश में जिन लोगों को बहुजन समाज की चिंता है वे यहां आए हैं. उन्होंने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा कि बाबा साहब के बच्चे एलान कर रहे हैं कि मोदी जी को दिल्ली की गद्दी छूने नहीं देंगे.उन्होंने कहा कि मैं काम करके दिखाऊंगा. 

चंद्रशेखर ने कहा कि आज 15 मार्च को हमारे रहबर का दिन है. गठबंधन की अटकलों पर चर्चा करते हुए चंद्र शेखर ने कहा कि संघर्ष में आदमी अकेला होता है, सफलता में भीड़ होती है. गठबंधन कैसे होते है काशीराम ने बताया है. उन्होंने कहा कि हम बहुजनों से जो उलझेगा, फना हो जाएगा, उन्होंने कहा कि मैं संविधान बचाने को लड़ रहा हूं. जेल से नहीं डरता. मैं संविधान बचाने के लिए लड़ रहा हूं. मनुवादी आंख खोलिए. अगर आज चूक हुई तो बहुत पीछे चले जाएंगे. बनारस से चुनाव लड़ने का जिक्र करते हुए चंद्र शेखर ने कहा कि जब मैंने बनारस से चुनाव लड़ने का ऐलान किया तो मोदी ने सफाई कर्मियों के पैर धोए. ये लड़ाई 85 प्रतिशत बनाम 15 प्रतिशत की है.

रैली में वरिष्ठ नेता शरद यादव भी मौजूद थे। शरद यादव ने कहा कि आने वाला चुनाव नई आजादी का चुनाव है। मोदी अमित शाह के आने पर वोट देने अधिकार खत्म हो जाएगा।

चंद्रशेखर ने कहा कि काशीराम की बहन का आशीर्वाद मुझे मिल चुका है. पूरी मजबूती के साथ लड़ंगा ताकि मनुवाद हार जाएं. दलितों और अल्पसंख्यकों को एक करेंगे और मनुवादों को हराकर दिखाएंगें. मैं यहां राजनीति नहीं कर रहा हूं बल्कि कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं. उनके खिलाफ लड़ने आया हूं. 

अखिलेश पर निशाना साधते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि अखिलेश यादव जी ने हमारी कीमत कम लगाई, उनके समय में 58000 दलित कर्मचारियों के डिमोशन किये गए. हमारे बिल को लेकर अखिलेश ने एक भी शब्द नहीं बोला. अखिलेश यादव को जवाब देना होगा. चंद्रशेखर ने कहा, मुलायम सिंह यादव चाहते हैं कि मोदी प्रधानमंत्री बनें तो उन्हें टिकट क्यों दिया? अखिलेश को जवाब देना पड़ेगा। 

चंद्रशेखर ने कहा कि अगर बात संविधान की आएगी तो भीमा कोरेगांव भी दोहरा देंगे। चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि उनका टारगेट दिल्ली में नीला झंडा लहराना है। चंद्रशेखर ने अपनी सारी संपत्ति समाज के नाम करने की घोषणा की है।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े