img

डेरे की तलाशी में सामने आई गुरमीत की गैर-कानूनी करतूतें, कल सुबह फिर शुरू होगा तलाशी अभियान

सिरसा- शुक्रवार को गुरमीत राम रहीम के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय में भारी पुलिस बल के साथ तलाशी अभियान चला। जिसमें राम रहीम की कई गैर कानूनी करतूतें सामने आई हैं। जानकारी मिली है कि डेरा सच्चा सौदा की तलाशी में भारी मात्रा में कैश मिलने के साथ अन्य संदिग्ध सामान भी मिला है। डेरा से कंप्यूटर, लैपटॉप, हार्ड डिस्क, बिना लेबल की दवाई, ओबी वैन, बिना नंबर की कार जब्त की गयी है।

तलाशी में प्लास्टिक की करेंसी भी मिली है, जिसका इस्तेमाल डेरा में किया जाता था, डेरे से 2 नाबालिग समेत पांच लोग भी मिले हैं,  जिनके बारे में कहा जा रहा है कि इन्हे अवैध तरीके से यहां रखा गया था। इसके अलावा डेरे में लुप्तप्राय जानवरों के होने का भी शक है, जिसके लिए वन विभाग की टीमों को भी बुलाया है।  

सुरक्षा तथा सर्चिंग के लिए 41 पेरा मिलिट्री कंपनियों के अलावा 4 आर्मी कॉलम, 4 जिलों की पुलिस के अलावा 1 स्वाट और 1 डॉक स्क्वाड तैनात किये गए है। बताया जा रहा है कि आज का सर्च अभियान पूरा कर लिया गया है, कल सुबह फिर से सर्च अभियान शुरू किया जाएगा।    डेरे में मृत लोगो के कंकाल भी दबे हुए है. ऐसे में जेसीबी मशीनों के द्वारा खुदाई करके इन कंकालों को बाहर निकलवाया जाएगा। ऐसी आशंका है कि लोगो को मारकर यहाँ पर गाड़ दिया गया होगा, हालांकि डेरा प्रबंधकों ने स्वीकार करते हुए कहा कि लोगो के मरने के बाद अंतिम संस्कार के रूप में उन्हें यहाँ दफनाया गया है। अपनों के देहावसान के बाद डेरा प्रेमी खुद ही उनकी अस्थियां सेवादारों को देकर जाते थे, इन अस्थियों को डेरे के सेवादार विधि विधान से ज़मीन में दबाते थे और उन पर पौधारोपण किया जाता था, ताकि डेरा प्रेमियों की यादें जुड़ी रहें और उनके परिवार का सदस्य किसी न किसी रूप में इस समाज में मौजूद रहे। 700 एकड़ में फैले डेरे की तलाशी में ऐसे कई अहम् राज खुलकर सामने आ रहे है, जिनका अंदेशा नहीं था। अभी बाबा के तहखाने की तलाशी भी पूरी नहीं हुई है. जिसमे कई बड़े राज खुल सकते है.    

विनोद लाहोट
विनोद लाहोट
संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े