img

राजस्थान में बड़ा दर्दनाक हादसा : सवाई माधोपुर में यात्रियों से भरी बस बनास नदी में गिरी, 33 लोगों की मौत, कई घायल

राजस्थान एक बड़ा दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है। सवाई माधोपुर में तीर्थ यात्रियों से भरी एक बस बनास नदी में गिर गई, जिसमें 33 लोगों जान चली गई है, जबकि कई घायल बताए जा रहे हैं। मौके पर राहत और बचाव कार्य जारी है।


प्राप्त जानकारी के मुताबिक आज सुबह करीब 7 बजे सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर दूब्बी गांव के पास लालसोट और कोटा हाईवे पर धार्मिक यात्रियों से भरी एक प्राइवेट बस बनास पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नदी में जा गिरी। इस दर्दनाक हादसे में जिला प्रशासन की तरफ से 33 लोगों के मरने की पुष्टि की गई है, जबकि कई लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को सवाई माधोपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बस में करीब 60 यात्री सवार थे। हादसे की ख़बर मिलते ही स्थानीय लोग और पुलिस-प्रशासन राहत और बचाव कार्य में जुट गया।


डॉक्टरों की हड़ताल होने के कारण जयपुर से डॉक्टर सवाई माधोपुर भेजी जा रही है। हादसे का शिकार हुए लोगों के शवों का पोस्टमार्टम कर उन्हें परिजनों के हवाले किया जा रहा है। सवाई माधोपुर में हुए इस दर्दनाक हादसे में घायल हुए लोगों का कहना है कि बस को बस को 16 साल का कंडक्टर चला रहा था।
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर सवाई माधोपुर बस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने घटना पर शोक जताते हुए कहा कि उनकी संवदेना मृतकों के परिवारों के साथ है और राज्य सरकार राहत एवं बचाव कार्य में लगी हुई है।


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा कि सवाई माधोपुर की दुर्घटना बहुत दुखद है, मेरी संवेदनाएं मृतकों के परिवारों के साथ हैं। राज्य सरकार से अपील है कि घायलों को तत्काल हर तरह की मदद पहुंचाएं। इसके साथ ही राजस्थान कांग्रेस के नेताओं से मेरा आग्रह है कि बचाव और राहत कार्य में हर संभव मदद करें।
 
राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस घटना पर दुख जताते हुए कहा कि उन्होंने अधिकारियों को तत्काल राहत और हर संभव सहायता मुहैया करने के निर्देश दिए हैं। 

रामकेश मीणा
रामकेश मीणा
ब्यूरो चीफ
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े