img

'पड़ताल' की ख़बर का असर- ब्याज के लिए कर्जदार की बेरहमी से पिटाई का मामला, आरोपी साहूकार गिरफ्तार

मजफ्फरनगर के क्रूर साहूकार रणतेज की खबर मीडिया में आने के बाद असर हुआ है,  पुलिस ने रणतेज उर्फ  काला को गिरफ्तार कर लिया है, और जेल भेज दिया है। हम आपको दें कि जब पीड़ित संजीव रणतेज उर्फ  काला की शिकायत करने थाने गए थे तो पुलिस ने उसे दुत्कार कर भगा दिया था। लेकिन सोशल मीडिया पर तेजी से ख़बर फैलने के बाद पुलिस को हरकत में आना पड़ा और साहूकार रणतेज को गिरफ्तार करना पड़ा।  

वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें
 :-

http://padtal.com/videos/view 
(संबंधित ख़बर से जुड़ी वीडियो जरूर देखे, जिससे आप ये जान सकें कि कोई किसी इंसान के साथ इतनी हैवानियत से कैसे पेश आ सकता है।)

हालांकि गिरफ्तारी के बाद भी रणतेज की गुंडई कम नहीं हुई है वो पुलिस हिरासत में होने के बावजूद संजीव को धमकी दे रहा है कि जेल से आकर तुझे देख लूंगा। हम एक बार फिर से आपको पूरा मामला बता देते हैं,  मुज़फ़्फ़रनगर के पलड़ा गांव के रहने वाले संजीव प्रजापति ने अपनी बेटी की शादी के लिए 8 महीने पहले बहादुरपुर गांव के साहूकार रणतेज उर्फ  काला से 50 हजार रुपये उधार लिए थे, लेकिन साहूकार रणतेज उर्फ काला ने 2 महीने बीतने के बाद ही बेहिसाब ब्याज लगाकर कुल रकम एक लाख 25 हजार रुपये बता दी। ये सब सुनकर मिट्टी के बर्तन बनाने वाले गरीब संजीव ने के होश उड़ गए। पीड़ित संजीव ने इतने रुपये देने में असर्थता जताई लेकिन वो नहीं माना और बार-बार पैसे देने के लिए दबाव बनाता रहा।  

जिसके बाद पीड़ित संजीव ने गांव में बुजुर्गों की पंचायत बुलाकर न्याय की गुहार लगाई, जिसमें पंचायत ने दोनों के बीच 80 हजार रुपये में समझौता करा दिया। जिसके तहत पीड़ित संजीव ने साहूकार को 75 हजार रुपये भी दे दिए और बकाया 5 हजार रुपये कुछ दिन बाद देने को कहा। लेकिन सोमवार को संजीव शाहपुर कस्बे में किसी काम से जा रहा था, तभी साहूकार ने मौका पाकर संजीव को कुछ बात करने के बहाने बुलाकर कमरे में बंधक बना लिया और उसे भद्दी गालियां देते हुए सादे कागज पर हस्ताक्षर करा लिए और फिर उसकी जूते-चप्पल से जानवरों की तरह पिटाई की। पीड़ित उससे बार-बार हाथ जोड़कर छोड़ने की गुहार लगाता रहा, उसने एक न सुनी। इतना ही नहीं साहूकार ने अपने एक साथी से संजीव को पीटते हुए पिटाई का लाइव वीडिया भी बनवाया, जिसे उसने ख़ुद ही वायरल कर दिया। 

वीडियो के वायरल होने के बाद संजीव की पत्नी को इस घटना का पता चला तो वो भी वहां पहुंच गई। इस दौरान साहूकार ने संजीव की पत्नी के साथ भी जबरदस्ती करने की कोशिश की। साहूकार ने बकाया पैसा ना देने के बदले दो रात के लिए पीड़ित की पत्नी को अपने साथ भेजने की मांग की और न भेजने पर जबरन उठाने की धमकी दी। पीड़ित दंपति ने किसी तरह दबंग साहूकार के चंगुल से छूट कर जान बचाई। इसके बाद में पीड़ित संजीव अपनी पत्नी को लेकर स्थानीय पुलिस से मिला, जहां उसे पुलिस चौकी भेज दिया गया। पुलिस चौकी में उसकी कोई बात नहीं सुनी गई। पुलिस ने उसे ख़ुद ही मामला सुलझाने की बात कहकर वापस भगा दिया। इसके बाद पीड़ित दंपति ने कोतवाली पहुंचकर आप बीती सुनाते हुए आरोपी साहूकार के खिलाफ तहरीर दी और न्याय की गुहार लगाई। 

हमारे न्यूज़ पोर्टल ‘पड़ताल’ की टीम ने  मामले की गंभीरता देखते  हुए, ये खबर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाई। जिसका असर ये हुआ कि इस घटना ने हर किसी को झकझोर कर रख दिया। और पुलिस को भी हरकत में आना पड़ा। और आरोपी रणतेज की गिरफ्तारी संभव हो सकी।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े