img

UPDATE- उत्कल एक्सप्रेस के 14 कोच पटरी से उतरे, 23 लोगों की मौत, 100 के करीब घायल

मुज़फ्फरनगर- पुरी से हरिद्वार जा रही पुरी-हरिद्वार-उत्कल एक्सप्रेस यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में खतौली के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। शाम को करीब छह बजे ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। हादसा इतना भयानक था कि कई डिब्बे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गए। 
इनमें से कुछ बोगियां रिहायशी इलाके में घुस गई, जहां कुछ मकान भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। एक डिब्बा कॉलेज और एक डिब्बा घर में भी घुस गया।

चश्मदीदों और स्थानीय लोगों का कहना है कि हादसे के लिए रेलवे जिम्मेदार है यहां ट्रेक पर मरम्मत का काम चल रहा था, जो कर्मचारियो ने बीच में ही छोड़ दिया जिसके कारण ये हादसा हुआ। रेलवे का कहना है कि यहां पर करीब 200 मीटर के अंदर ट्रेक खराब है,  जिस कारण ट्रेन 10-15 kmph की गति से गुजरती हैं लेकिन उत्कल एक्स्प्रेस की गति 105 kmph की थी। यहां पर ड्राइवर को रेल को धीमा करना चाहिए था लेकिन ड्राइवर ने लापरवाही की है।  रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा है कि, "मैंने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन, ट्रैफिक मेंबर्स और दूसरे अधिकारियों को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए, ताकि राहत और बचाव के काम पर नजर रखी जा सके। घायलों को इलाज पहुंचाने और मदद के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। मेडिकल वैन्स रवाना की गई हैं।" "मनोज सिन्हा घटना स्थल की ओर रवाना हो गए हैं। हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं, वजहों का पता लगाया जाएगा। , उनका कहना है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।।" यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताते हुए कहा की जांच के निर्देश दे दिए गए हैं।पुलिस और प्रशासन को घटना स्थल पर भेजा जा चुका है। यूपी सरकार के दो मंत्री सतीश महाना और सुरेश राणा को भेजा है। युद्धस्तर पर राहत कार्य किए जाएंगे। मृतकों और घायलों के परिजनों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। रेल मंत्रालय के साथ हम संपर्क में हैं। जो जरूरी कदम होंगे वो उठाए जाएंगे।" दिल्ली से NDRF, मेरठ से PAC, मुजफ्फरनगर के डीएम, एसएसपी, सहारनपुर के कमिश्नर, मेरठ के कमिश्नर, नोएडा में तैनात ATS और STF की टीमों को मौके पर रवाना किया गया है। रिलीफ एंड रेस्क्यू ऑपरेशन में तेजी के लिए पीएसी की 9 कंपनियों को खतौली पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं। 
हेल्पलाइन नंबर :-
रेलवे कंट्रोल रूम- 0131-2645238, 0131-2437160, 9760534054
डीएम, मुजफ्फरनगर- 9454417574
एसएसपी, मुजफ्फरनगर- 9454400314
सीएमओ, मुजफ्फरनगर- 9412333612, 9634092001
एसपी सिटी, मुजफ्फरनगर- 9454401127
एसडीएम खतौली- 9454417008
सीओ खतौली- 9454401611
एसओ जीआरपी, मुजफ्फरनगर- 9454404449
आरपीएफ- 0131-2437160
उत्कल एक्सप्रेस हादसे आतंकी साजिश के तौर पर भी देखा जा रहा है जिसकी जांच के लिए एटीएस की टीम घटना स्थल के पर पहुंची हुई है। एटीएस की ये टीम अनूप सिंह के नेतृत्व में रवाना हुई है। हालांकि अभी अधिकारी इसके पीछे टेरर लिंक की कोई पुख्ता सूचना की बात नहीं कह रहे है। इस हादसे में अभी तक 23 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है और ये संख्या और भी ज्यादा हो सकती है।घायलों की संख्या 90 से ज्यादा बताई जा रही है। 
रेलवे ने मृतकों के परिजनों को 3-50 लाख रुपए, गंभीर रुप से घायलों को 50 हजार रुपए और मामली घायलों को 25 हजार रुपए देने की घोषणा की है। यूपी सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए देने की घोषणा की है। उड़ीसा सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए देने की घोषणा की है।  हादसे के बाद देहरादून-सहारनपुर-दिल्ली रूट पर दर्जनों ट्रेनों को जहां-तहां रोक दिया गया है। देहरादून-बांद्रा एक्सप्रेस, सहारनपुर-इलाहाबाद नौचंदी एक्सप्रेस, अंबाला-दिल्ली पैसेंजर, शालीमार एक्सप्रेस, दिल्ली-देहरादून जन शताब्दी को रोक दिया गया है। स्टेशन अधीक्षक जवाहर सिंह ने बताया कि अभी स्थिति स्पष्ट नहीं हो पा रही है कि ट्रेनों को किस रास्ते दिल्ली निकाला जाए। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विट कर हादसे पर दुख जताया। मोदी ने कहा कि मृतकों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं और मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नेे भी हादसे पर संवेदना व्यक्त की हैं।


मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

1 Comments

  •  
    Rakesh
    2017-08-19

    Very unfortunate

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े