img

जीत के बावजूद गुजरात में दो अंकों पर सिमटी बीजेपी, तो हिमाचल में धूमल की हार खतरे की घंटी

नई दिल्ली, 18 दिसंबर 2017- गुजरात 182 और हिमाचल प्रदेश की सभी 68 सीटों के नतीजे आ चुके हैं। दोनों राज्यों में बीजेपी ने विजय पताका फहराया है। और बहुमत के आंकड़े को पार किया है। गुजरात और हिमाचल चुनावों में एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी का मैजिक चला है।

गुजरात में बेशक बीजेपी बहुमत तक पहुंची है लेकिन पिछले पिछले 22 साल में उसका वोट प्रतिशत और सीटें अभी तक की सबसे कम संख्या वाली रही हैं। और बीजेपी दो अंकों यानि 99 सीटों पर ही सिमट गई। हालांकि बहुमत के लिए 92 सीटों की ही जरूरत है। वहीं कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों ने 80 सीटें जीती हैं जिसमें 77 सीटें कांग्रेस के खाते में गई हैं। राज्य में साल 2012 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 115 और कांग्रेस को 61 सीटें हासिल हुई थीं। बीजेपी को 23 सीटों का नुकसान और कांग्रेस को 16 सीटों का फायदा हुआ है। 

दूसरी और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने 44 सीटें जीतकर स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल किया है, जबकि कांग्रेस 21 सीटों तक ही सिमट कर रह गई।  लेकिन बीजेपी की विजय पताका के बावजूद मुख्यमंत्री पद के दावेदार प्रेम कुमार धूमल का हार जाना खतरे की बड़ी घंटी की ओर संकेत करता है। राज्‍य में बीजेपी के पार्टी प्रदेश इकाई अध्यक्ष को भी हार का सामना करना पड़ा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली स्थित बीजेपी के मुख्यालय में आयोजित विजय सभा को संबोधित करते गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनावों में जीत के लिए दोनों राज्यों की जनता को बधाई दी। उन्होंने कहा कि गुजरात और हिमाचल की जनता को शत-शत नमन की उन्होंने विकास के मार्ग को चुना।

प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात की जीत को ऐतिहासिक जीत बताया। उन्होंने कहा कि ये विजय बहुत बड़ी है। 1995 में बीजेपी दो-तिहाई बहुमत के साथ जीती और उसके बाद हम हर लोकसभा और विधानसभा जीते। यह लगातार मिलने वाली जीत विकास के नाम पर मिली। उन्होंने कहा कि गुजरात की विजय मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से खुशी का विषय है। यह दोहरी खुशी का विषय है। मेरे गुजरात छोड़ने के साढ़े तीन साल बाद भी गुजरात के साथियों ने गुजरात के विकास में कोई कमी नहीं रहने दी है। पीएम मोदी ने कहा कि यह विजय असाधारण और असामान्य है। इस विजय के लिए अमित शाह बधाई के पात्र हैं। 

वहीं हिमाचल प्रदेश की अपनी जीत पर प्रधानमंत्री ने कहा कि हिमाचल के नतीजों ने दिखाया कि अगर गलत काम आपकी प्राथमिकता है तो जनता उसे 5 साल बाद स्वीकार नहीं करती है, और यही कारण है कि हिमाचल में भी कमल खिला।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार स्वीकार करते हुए कहा कि कांग्रेस जनादेश को स्वीकार करती है और दोनों राज्यों में बनने जा रही नई सरकारों को बधाई देती है। चुनाव परिणामों के बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल बोले कि गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे देखकर हम कह सकते हैं कि गुजरात की जनता जागरुक तो हुई है लेकिन अभी और जागरूक होने की जरूरत है। सूरत और राजकोट में ईवीएम टैंपरिंग का मुद्दा रहा है। मैं किसी पार्टी का पदाधिकारी नहीं हूं। मैं जल्द ही आंदोलन शुरू करुंगा। उन्होंने कहा कि सूरत में सभाओं में इतनी भीड़ आई थी वहां भी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े होते हैं। अगर एटीएम हैक हो सकते हैं तो ईवीएम क्यों नहीं हो सकती। हम आरक्षण और किसानों के मुद्दे पर आंदोलन जारी रखेंगे। मैंने पहले ही कहा था कि ऐसे परिणाम आएंगे कि कोई ईवीएम पर सवाल न उठा सके। 


' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े