img

कूड़ेदान को अपवित्र करने के आरोप में नौ माह की गर्भवती महिला की पीट-पीटकर हत्या

उत्तरप्रदेश- बुलंदशहर के खेतलपुर भंसोली गांव में नौ महीने की गर्भवती दलित महिला को पीट पीटकर महज इसलिए मार डाला जाता है क्योंकि उसने गलती से ठाकुर का कूड़ेदान छू लिया था। दिमाग से  दिवालिया हो चुके जातिवादी मानसिकता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उनका मानना है कि कूड़ेदान छू लेने से ‘पवित्र’ कूड़ेदान अपिवत्र हो गया।

15 अक्टूबर को 34 साल की सावित्री देवी को लाठी डंडे से पीटने के बाद कोख पर भी लात मारी गई। जिससे महिला का गर्भपात हो गया और गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया, उपचार के डॉक्टर ने उसे घर वापस भेज दिया। बीते शनिवार को अचानक सावित्री की तबियत बिगड़ गई जिसके बाद उसे फिर से अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गर्भवती मां के साथ हुई इस अमानवीय के बाद से 9 साल की बेटी बुरी तरह से सदमे में है।  

सावित्री के पति दिलीप कुमार ने बताया कि ‘मेरी पत्नी ने गलती से उनका कूड़ेदान छुआ था लेकिन रोहित और उनकी मां अंजू ने उसे बुरी तरह से पीटा। उनका कहना था कि उसने उनका कूड़ेदान दूषित कर दिया। वो लोग ठाकुर समुदाय से ताल्लूक रखते हैं, इसलिए हम जब कोतवाली देहात शिकायत करने गए तो पुलिस वालों ने हमें भगा दिया। किसी तरह से शुक्रवार को शिकायत दर्ज हुई।  महिला की मौत के बाद रिपोर्ट में धारा 304 (ए) और अनुसूचित जाति-जनजाति की धाराएं बढ़ाई गई हैं।  मामले की जांच एसपी सीओ सिटी कर रहें हैं।  आरोपियों को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

2 Comments

  •  
    Sandeep Surya
    2017-10-25

    Yahi Desh ka Durbhagya hai. Ab Gandagi bhi Chune se Gandi hone lagi hai. Inko to Line me Khada karke marna chahiye

  •  
    Fighter
    2017-10-25

    Ab hme hathiyar uthana chahiye

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े