img

मोदी पर फिर लगा अपने उद्योगपति मित्र को फायदा पहुंचाने का आरोप, कांग्रेस ने कहा राफेल सौदे से आ रही घोटाले की बू

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर राफेल (Rafael) लड़ाकू विमान खरीद सौदे में सभी नियमों को ताक पर रखने का आरोप लगाया है, उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने उद्योगपति मित्र के लिए देश की सुरक्षा से तो समझौता कर ही रहे हैं, इससे सरकारी खजाने को भी नुकसान पहुंचेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि इस सौदे से घोटाले की बू आ रही है।
 कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी जी ने दो साल पहले फ्रांस यात्रा के दौरान रक्षा खरीद के नियमों को ताक पर रख कर 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने को मंजूरी दे दी थी। इस सौदे में किसी भी तरह की पारदर्शिता नहीं थी, इस मौके पर न तो रक्षा मंत्री मौजूद थे और न ही केन्द्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति तथा अन्य एजेन्सियों की मंजूरी ली गई।

उन्होंने जानकारी दी कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने वर्ष 2012 में फ्रांस से मात्र 54000 करोड़ रूपये की लागत से 126 राफेल विमान खरीदने का सौदा किया था और इसमें भारतीय एयरोस्पेस कंपनी हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड से प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए भी समझौता किया गया था। लेकिन मोदी सरकार ने बिना प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के प्रावधान के ही केवल 36 विमान 60 हजार करोड रूपये में खरीदने को मंजूरी दी। इससे सरकारी खजाने को भारी नुकसान पहुंचेगा। उन्होंने सवाल किया कि मोदी सरकार ने नियमों की परवाह किए बिना और पारदर्शिता को ताक पर रखकर किस आधार पर इस सौदे के बारे में एकतरफा निर्णय लिया।

ऊधर भाजपा का कहना है कि अगस्ता वैस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे में अनियमितता से ध्यान भटकाने के लिए कांग्रेस इस तरह के आरोप लगा रही है।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े