img

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर की तबीयत फिर बिगड़ी, मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया

भीम आर्मी के संस्थापक एडवोकेट चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण को सहारनपुर की देवबंद जेल से इलाज के लिए मेरठ में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक युवा दलित नेता चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण पिछले कई दिनों से पेट में दर्द और बुखार से जूझ रहे थे, लेकिन मंगलवार को उनकी तबीयत ज़्यादा ख़राब हो गई, जिसके बाद दलित समाज के संगठनों के दबाव में जेल प्रशासन ने उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच मेरठ स्थित लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर किया, जहां रात में ही ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टरों ने उनका चेकअप किया और अब इलाज करने में जुटे हुए हैं।    

सहानपुर में मई महीने में हुई जातीय हिंसा के मामले में 8 जून से जेल में बंद युवा दलित नेता एडवोकेट चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण को पिछले दिनों तबीयत ख़राब होने पर सहरानपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन तब से उनकी सेहत में कोई सुधार नहीं हो पा रहा है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक डॉक्टर वीरेश शर्मा के मुताबिक मंगलवार को चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण ने पेट में दर्द की शिकायत की थी, जिसके बाद उन्हें जिला अस्पताल में ले जाया गया। उनका कहना है कि जिला अस्पताल के डॉक्टरों की सलाह पर ही चंद्रेशखर को मेरठ में भर्ती कराया गया है।

चंद्रशेखर की तबीयत ख़राब होने की सूचना मिलते ही उनके परिजनों, समर्थकों और युवा शक्ति दल समेत कई दलित संगठनों के पदाधिकारियों ने मेरठ मेडिकल कॉलेज पहुंच कर उनका हालचाल जाना। युवा शक्ति दल के संस्थापक रवि गौतम अपनी पूरी टीम के साथ मेरठ मेडिकल कॉलेज में मौजूद हैं और डॉक्टरों से चंद्रशेखर आज़ाद की सेहत की जानकारी ले रहे हैं।

आपको बता दें कि चंद्रशेखर आज़ाद के परिजनों और भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने जेल प्रशासन पर चंद्रशेखर आज़ाद के इलाज को लेकर लापरवाही का आरोप लगाया था और उन्हें बेहतर इलाज के लिए मेरठ या दिल्ली में भर्ती कराने की मांग कर रहे थे। आपको ये भी बता दें कि भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण को पिछले दिनों इलाहाबाद हाईकोर्ट से सभी मामलों में जमानत मिल गई थी, लेकिन सहारनपुर जिला प्रशासन ने चंद्रशेखर आज़ाद रावण की जेल से रिहाई होने से पहले ही उनपर रासुका के तहत कार्रवाई कर दी। जिससे दलित समाज और भीम आर्मी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता बेहद ख़फ़ा हैं, जिसके विरोध में भीम आर्मी की तरफ से सहारनपुर में कई जगह विरोध प्रदर्शन भी किया गया था और अब गुरुवार को यानी 9 नवंबर को दिल्ली में यूपी भवन सरदार पटेल मार्ग पर योगी सरकार के खिलाफ भी विशाल धरना प्रदर्शन करने का ऐलान किया गया है।

भीम आर्मी के मुख्य संरक्षक जय भगवान जाटव का कहना है कि भीम आर्मी के इस विशाल धरना प्रदर्शन में बड़ी संख्या में दलित,पिछड़े समाज के लोग शिरकत करेंगे, जिसमें भाई चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण पर लगी रासुका को बिना शर्त हटाने और उन्हें जेल से रिहा करने की मांग की जाएगी। जय भगवान जाटव ने दलित समाज के लोगों से विशाल धरना प्रदर्शन को सफल बनाने की अपील की है।        

सतीश आज़ाद
सतीश आज़ाद
संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े