img

SP-BSP का गठबंधन मजबूत है और लंबे समय तक चलेगा- अखिलेश यादव

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि बीजेपी की सरकारों से लोग खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र में अगली सरकार गैर बीजेपी की बनेगी। अखिलेश यादव ने ये बातें गुरुवार को इटावा में सफारी पार्क का भ्रमण करने के बाद मीडिया से बात करते हुए कही।



एसपी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा है  कि एसपी और बीएसपी का जो गठबंधन हुआ है वो मजबूत है और लंबे समय तक चलेगा। इसमें अभी कुछ और दल शामिल होंगे। उन्होंने ये भी कहा कि तीसरा मोर्चा बनाने के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जो प्रयास कर रही है, वो खुशी की बात है। इससे सभी दल एकजुट होंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने जो फॉर्मूला बनाया था और जिस फार्मूले से हमें हराया था। हमने अब वही फॉर्मूला चला दिया है और बीजेपी को उप चुनाव में हरा दिया है। बीजेपी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद के फूलपुर क्षेत्रों में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा है।  इस उप चुनाव में एसपी और बीएसपी गठबंधन चला है। आने वाले दिनों में भी हम मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी हम पर गठबंधन करने की बात कर रही है,  जबकि बीजेपी का तो 35 राजनीतिक दलों के साथ महागठबंधन है। हमारा तो 3-4 दलों से ही गठबंधन है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समाजवाद का विरोध कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने अपने लिए अंग्रेजी में एक किताब लिखवाई है, जिसमें उन्होंने अपने आपको सोशलिस्ट बताया है। सोशलिस्ट की हिन्दी समाजवाद होती है। स्थिति यह है कि मुख्यमंत्री अपने आपको अंग्रेजी में समाजवादी कह रहे हैं और हिन्दी में समाजवाद का विरोध कर रहे हैं। अखिलेश यादव ने ये भी कहा कि मुख्यमंत्री योगी समाजवाद का विरोध करने से पहले संविधान की रूपरेखा पढ़ लें, जिसमें समाजवाद लिखा हुआ है। बीजेपी सबका साथ,सबका विकास का नारा देती है, ये भी एक तरह का समाजवाद ही है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों में ईवीएम के बजाए बैलट पेपर से मतदान कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब व्यक्ति ईवीएम से मतदान करता है तो उसका पूरा गुस्सा नहीं निकलता है, लेकिन जब वो बैलेट पेपर पर जोर से ठप्पा मारता है तो उसका पूरा गुस्सा निकल जाता है।

मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
मुख्य संवाददाता
PROFILE

' पड़ताल ' से जुड़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको यह रिपोर्ट पसंद आई हो तो कृपया इसे शेयर करें और सबस्क्राइब करें। हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

संबंधित खबरें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *

0 Comments

मुख्य ख़बरें

मुख्य पड़ताल

विज्ञापन

संपादकीय

वीडियो

Subscribe Newsletter

फेसबुक पर हमसे से जुड़े